डोनाल्ड ट्रंप को पसंद नहीं अल-सल्वाडोर, हैती के लोगों का काला रंग, विरोध

0
58

जेनेवा : संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय ने अल-सल्वाडोर, हैती व कुछ अन्य अफ्रीकी देशों के बारे में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अपमानजनक टिप्पणी को ‘नस्लभेदी’ करार दिया है। समाचार एजेंसी एफे न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार उच्चायुक्त के प्रवक्ता रुपर्ट कोलविले ने इन दोनों देशों को ट्रंप द्वारा गंदा कहे जाने की निंदा की। ट्रंप ने यह टिप्पणी सांसदों के साथ आव्रजन संबंधी एक बैठक में की थी।

कोलविले ने कहा, “अमेरिका के राष्ट्रपति की यह टिप्पणी आश्चर्यजनक और शर्मनाक है। अफसोस के साथ मुझे कहना पड़ रहा है कि यह नस्लवादी के अलावा और कुछ नहीं है।”

ये भी देखें :ट्रंप का चौंकाने वाला बयान : किम जोंग-उन के साथ संबंध बहुत अच्छे

ओवल आफिस में हुई इस बैठक में मौजूद लोगों के मुताबिक, ट्रंप इस बात को लेकर हताश थे कि अल-सल्वाडोर, हैती और कुछ खास अफ्रीकी देशों के आव्रजकों को अमेरिका आने दिया जा रहा है। उन्होंने इन देशों को शिटहोल्स तक कह डाला।

कहा जा रहा है कि ट्रंप ने कहा, “आखिर इन गंदे देशों के इन तमाम लोगों को हम अपने यहां क्यों आने दे रहे हैं। हमें हैती के और लोगों की क्या जरूरत है। उन्हें निकाल बाहर करें।”

ट्रंप ने यह भी कहा कि अमेरिका को नार्वे जैसे देशों के आव्रजकों का स्वागत करना चाहिए।

ट्रंप के इस भद्दे बयान के बाद अफ्रीका के देश उनके विरोध में एक साथ खड़े हैं और माफी की मांग कर रहे हैं।

अफ्रीकी देश बोत्सवाना की विदेश मंत्री पेइलोनोमी वेंसन मोईतोई ने कहा यह आपके द्वारा प्रयोग किया जाने वाला शब्द नहीं है, यह ऐसा शब्द नहीं है जिसे कोई राष्ट्रपति इस्तेमाल करे।

 

loading...

Previous articleइंटरनेशनल बॉक्सर की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस
Next articleNIA : आतंकी वित्त पोषण मामले में आरोप-पत्र अगले सप्ताह
आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।