मुंबई: बॉलीवुड में आजकल #MeToo कैंपेन काफी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में कई सेलेब्रिटीज व नामचीन हस्तियां इसमें फंसती नजर आ रही हैं, फिर चाहे वो कोई एक्टर हो या कोई जर्नलिस्ट। मगर क्या आपको पता है कि इस कैंपेन की शुरुआत कब और कैसे हुई। अगर आपको इसके पीछे का इतिहास नहीं पता तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे।

कैसे शुरू हुआ #MeToo कैंपेन?

हॉलीवुड अभिनेत्री एलीसा मिलाने ने पिछले साल फेमस हॉलीवुड फिल्म निर्माता हार्वे वीनस्टीन पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे। ऐसे में एलीसा मिलाने ने 16 अक्टूबर 2017 को अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर अपने साथ हुए यौन शोषण के बारे में #MeToo यानी मैं भी के साथ खुलासा किया था।

यह भी पढ़ें: #MeToo: जब चीज़ें सत्यापित हों, तभी कुछ कहना चाहिए- सरोजनी अग्रवाल

एलीसा द्वारा इस बात का खुलासा करने के बाद हॉलीवुड की कई एक्ट्रेसज जैसे एंजेलिना जोली सामने आईं और उन्होंने भी #MeToo के साथ अपने संग हुए यौन शोषण या घरेलू हिंसा की बात को सामने रखा। इसके बाद कई महिलाओं ने इस कैंपेन के तहत अपने बुरे एक्सपीरियंस को शेयर करना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें: #MeToo कैम्पेन ने पकड़ी धार, रोज जुड़ रहे नये पन्ने, चर्चा में हैं ये हस्तियां

बता दें, जब एलीसा मिलाने ने #MeToo का इस्तेमाल पहली बार किया, तब उन्हें नहीं पता था कि ये कैंपेन इतना आगे बढ़ जाएगा। वहीं, एलीसा का ये कैंपेन इतना सफल रहा कि महज तीन दिन के अंदर ही दुनियाभर में 1.2 करोड़ महिलाओं ने #MeToo के नाम से आपबीती साझा कर दी। इसके बाद यह आंदोलन भारत भी आ पहुंचा।

कई हस्तियों पर लगे आरोप

बता दें, इस कैंपेन के तहत कई हस्तियों के ऊपर यौन शोषण का आरोप लग चुका है। महिलाएं लगातार खुलकर अपने बुरे एक्सपीरियंस #MeToo कैंपेन के तहत शेयर कर रही हैं। महिलाओं के खुलासों से पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है।