आईसीजे न्यायाधीश भंडारी के समर्थन में संयुक्त राष्ट्र महासभा

0
411

संयुक्त राष्ट्र : अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के न्यायाधीश के पद पर दलवीर भंडारी के पुनर्निर्वाचन के पक्ष में संयुक्त राष्ट्र महासभा आ खड़ा हुआ है। जबकि सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य और उनके सहयोगी ब्रिटेन के क्रिस्टोफर ग्रीनवुड को इस पद पर निर्वाचित करना चाहते हैं।

भंडारी का सभा में वोट पांच चरणों के मतदान के दौरान स्थायी रूप से 110 से 121 हो गया है, जबकि ग्रीनवुड का वोट 79 से 68 हो गया है।

परिषद में ग्रीनवुड ने पांच चरणों में अपना नौ वोट बनाए रखा है। भंडारी को गुरुवार को छह वोट डाले गए थे, उन्होंने एक वोट खो दिया है, लेकिन उन्हें पांच वोट मिले हैं।

ये भी देखें : ICJ जज के लिए न्यायाधीश दलवीर भंडारी पुनर्निवाचन पर गतिरोध

निरंतर बने गतिरोध से दोनों सदनों को न्यायाधीश का चुनाव किए बगैर स्थगित करने को मजबूर होना पड़ा। इस न्यायाधीश का चुनाव हेग स्थित अंतर्राष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) के पांचवें पद को भरने के लिए करना था।

मौजूदा न्यायाधीश भंडारी एशिया-प्रशांत सीट लेबनान के नवाफ सलाम से गुरुवार को हुए चुनाव में हार गए थे।

चार उन उम्मीदवारों को निर्वाचित घोषित किया गया, जिन्हें परिषद व सभा दोनों में बहुमत हासिल हुआ। जबकि भंडारी व ग्रीनवुड को सिर्फ एक सदन में बहुमत हासिल हुआ।

सप्ताहांत में अपने पक्ष में समर्थन जुटाने के बाद सोमवार को मतदान हुआ, जिसमें सभा व परिषद के बीच एक टकराव नजर आया।

महासभा के 193 सदस्यों का मूड धीरे-धारे अवज्ञापूर्ण हो गया, जहां सदस्य स्थिर रूप से हर चक्र के साथ भंडारी के पक्ष में जाने लगे।

महासभा के उपाध्यक्ष वानुअतु के स्थायी प्रतिनिधि ओडो तेवी व परिषद के अध्यक्ष सेबस्तिआनो कार्डी ने घोषणा की कि मतदान दिन में दोबारा शुरू होगा।

इस गतिरोध ने परिषद व महासभा के बीच के सत्ता असंतुलन को सामने लाने का काम किया।

परिषद के स्थायी सदस्यों की परंपरा के तहत प्रत्येक का विश्व अदालत में एक न्यायाधीश है, जिसे अब महासभा द्वारा चुनौती दी जा रही है।

–आईएएनएस

SHARE
Previous articleपद्मावती पर बवाल : करणी सेना ने कोटा के मॉल में की तोड़फोड़
Next articleफिर धोनी के बचाव में आए शास्त्री, कहा- पहले अपने गिरेबान में झांको

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं।

यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।