जल्द ही नेपाली भाषा में भागवद गीता,पौराणिक और पारिवारिक रिश्ते होंगे मजबूत

पड़ोसी देश नेपाल के साथ अपने संबंधों को प्रगाड़ करने की तरफ एक कदम और बढ़ाते हुए अब भारत भगवद गीता का नेपाली भाषा में संस्करण बहुत जल्द प्रस्तुत करने जा रहा है।हालाँकि नेपाली अनुवाद का काम विश्व प्रसिद्ध गीता प्रेस में अपने अंतिम चरण में है, परन्तु इस वर्ष के शुरुआत में शुरू हुई नेपाल- भारत मैत्री बस सेवा के बाद इसकी मांग ने जोर पकड़ा था।

जल्द ही नेपाली भाषा में भागवद गीता,पौराणिक और पारिवारिक रिश्ते होंगे मजबूत

लखनऊ : पड़ोसी देश नेपाल के साथ अपने संबंधों को प्रगाड़ करने की तरफ एक कदम और बढ़ाते हुए अब भारत भगवद गीता का नेपाली भाषा में संस्करण बहुत जल्द प्रस्तुत करने जा रहा है।हालाँकि नेपाली अनुवाद का काम विश्व प्रसिद्ध गीता प्रेस में अपने अंतिम चरण में है, परन्तु इस वर्ष के शुरुआत में शुरू हुई नेपाल- भारत मैत्री बस सेवा के बाद इसकी मांग ने जोर पकड़ा था।

यह भी पढ़ें ……रमजान स्पेशल : गीता प्रेस ने पेश की हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल, अब उर्दू में पढ़ सकेंगे भागवद गीता

ज्ञात हो की इसी साल मई नेपाल के जनकपुर और भारत के अयोध्या के बीच शुरू हुई इस मैत्री बस सेवा का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया था और जनकपुर से अयोध्या यात्रियों को मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने गीता की प्रतियाँ भेंट स्वरुप प्रदान की थी। उन यात्रियों में नेपाल सरकार के कुछ मंत्री और नौकरशाह भी थे जिन्होंने मुख्यमंत्री योगी से गीता का नेपाली संस्करण उपलब्ध कराने का आग्रह किया था।

यह भी पढ़ें ……16 साल बाद जेल से रिहा हुआ पाकिस्तानी कैदी जलालुद्दीन, वतन लौटते वक्त साथ ले गया गीता

700 छन्दों वाली भगवद गीता, जो की मूलतः गीता प्रेस, गोरखपुर, प्रकाशित करता है, अभी 15 भाषाओँ में उपलब्ध है, काठमांडू से इसे नेपाली भाषा में प्रकाशित करने की मांग काफी लम्बे समय से की जा रही है।

गीता प्रेस के मैनेजर लालमणि त्रिपाठी ने कहा ” अभी हम करीब 20 हिन्दू धार्मिक पुस्तिकाओं को नेपाली भाषा में उपलब्ध करते हैं और गीता के नेपाली अनुवाद का काम हमें करीब 9 महीने पहले शुरू किया था। हालाँकि इस साल जब मैत्री बस  सेवा शुरू हुई तो हमारे पास इस काम को जल्द पूरा करने का आग्रह किया गया और मुख्यमंत्री की तरफ से एक औपचारिक आग्रह भी आया। अभी ये अपने अंतिम चरण में है। नेपाल के इस आग्रह से ये भी स्पष्ट होता है कि गीता प्रेस द्वारा सस्ते दाम और सरल भाषा में उपलब्ध धार्मिक ग्रंथों पर
जैसी आस्था हम भारतियों की है, वैसी ही नेपाल के लोगों में है ” ।

यह भी पढ़ें ……जलालपुरी को मरणोपरांत पद्मश्री सम्मान, गीता का किया था उर्दू अनुवाद

हमें ये जान कर भी प्रसन्नता हुई की जब मैत्री बस सेवा की बस अयोध्या पहुंची तो किस तरह से नेपाल से आए यात्रियों ने हमारे मुख्यमंत्री को एक प्रकार से घेर लिया था और नेपाली संस्करण को जल्द उपलब्ध करने की मांग की थी। त्रिपाठी ने आगे बताया ”हालाँकि इन्टरनेट पर गीता के नेपाली भाषा के सैकड़ों प्रारूप मौजूद हैं, लेकिन जो विश्वश्नीयता पाठकों की गीता प्रेस पर है वो किसी पर नहीं है।  नेपाल में नेपाली भाषा के विद्वानों द्वारा नेपाली भाषा में अनुवादित गीता के निरिक्षर्ण का काम लगभग अंतिम चरणों में है और हम आशा करते हैं की ये जल्द ही ग्राहकों के हाथ में होगी और नए साल में उपहार स्वरुप हम अपने नेपाल के भाई बहनों को उपहार स्वरुप ये हम भेट कर पाएँगे।

यह भी पढ़ें ……

जानकीपुर धाम (नेपाल) की उप मेयर गीता मिश्र, जो हाल ही में गोरखपुर आई थी, ने कहा “योगीजी से अपनी मैत्री सेवा के दौरान हुई मुलाकात के दौरान हमने गीता का नेपाली संस्करण जल्द उपलब्ध करने का आग्रह किया था और उन्होंने हमे आश्वस्त किया था की जल्द ये हमारे हाथ में होगी। हम उनका धन्यवाद करते हैं की उन्होंने इस काम को शीघ्रता से करवा रहे हैं और ये जल्द हमारे हाथों में होगी“, ।

यह भी पढ़ें ……गीता के ज्ञान से ही दूर होगा निराशा, अंधकार का वातावरण

मेयर गीता मिश्र ने कहा “अयोध्या से हमारा पौराणिक और पारिवारिक रिश्ता है, ऐसे छोटे छोटे आदान प्रदान से हमारे रिश्ते और मजबूत होते रहेंगे और भविष्व में भी हमे उनकी ऐसी इक्षाओं को पूर्ण करने मे खुशी मिलती रहेगी।

यह भी पढ़ें ……राम को जन-जन तक पहुंचा रहा गीता प्रेस, जानिए छाप चुका है कितनी प्रतियां?

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा यहाँ मै एक बात और आपको बताना चाहूँगा की मैत्री बस सेवा के अंतर्गत ही भारत सरकार नेपाल के कुछ अन्य जिलों को भी बस से जोड़ने जा रही है जिससे न सिर्फ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा अपितु हमारे बीच के धार्मिक रिश्तों में भी प्रगाढ़ता आएगी“।