मर्सिडीज के प्रमुख को पेंशन में मिलेंगे रोजाना करीब 4,250 यूरो

मर्सिडीज के प्रमुख को पेंशन में मिलेंगे रोजाना करीब 4,250 यूरो

बर्लिन। विश्व प्रसिद्ध मर्सिडीज बनाने वाली कंपनी ‘डायमलर’ के प्रमुख को पेंशन में रोजाना करीब 4,250 यूरो मिलेंगे। उनकी एक दिन की पेंशन, जर्मनी में ज्यादातर लोगों को मिलने वाली दो महीने की तनख्वाह के बराबर होगी। डायमलर के चेयरमैन डीटर सेचे का वार्षिक पेंशन पैकेज 10.5 लाख यूरो होगा। सेचे 2019 के अंत में रिटायर होंगे और उन्हें 2020 से पेंशन मिलने लगेगी। डायमलर के प्रवक्ता ने बताया है कि इस पेंशन डील पर फैसला 2017 में हो चुका था। इसके अलावा डायमलर के मैनेजरों के लिए बनाए गए पेंशन फंड से भी सेचे को पांच लाख यूरो प्रतिवर्ष मिल सकते हैं। दोनों को जोड़ा जाए तो मर्सिडीज बेंज बनाने वाली कंपनी के प्रमुख को रिटायरमेंट के बाद हर दिन करीब 4,250 यूरो की पेंशन मिलेगी।

यह भी पढ़ें : ब्राजील में बांध ढहने से मची तबाही, 50 की मौत, 300 से ज्यादा लोग लापता

भारतीय मुद्रा के हिसाब से पेंशन की यह रकम हर दिन करीब 3.44 लाख रुपए होगी। सेचे के पास और ज्यादा पैसा कमाने का विकल्प भी खुला होगा। 2021 से वह डायमलर के बोर्ड को ज्वाइन कर सकते हैं। हालांकि बोर्ड में उनकी तनख्वाह कितनी होगी, इसे लेकर कंपनी प्रवक्ता ने कहा कि यह उसी वक्त तय किया जाएगा। सेचे जर्मन कंपनियों के इतिहास में सबसे ज्यादा पेंशन पाने वाले शख्स बनने जा रहे हैं।
इससे पहले डीजल कांड में फंसे फोल्क्सवागेन के पूर्व प्रमुख मार्टिन विंटरकॉर्न सबसे ज्यादा पेंशन वाले शख्स थे जिनकी पेंशन करीब 3,100 यूरो प्रतिदिन है।
मर्सिडीज के मुखिया सेचे की जगह लेंगे डायमलर के डेवलपमेंट के प्रमुख ओला केलेनिउस। जर्मनी में न्यूनतम मजदूरी 8.84 यूरो प्रतिघंटा है। इस हिसाब से गणना की जाए तो औसत आमदनी करीब 1,500 यूरो प्रतिमाह है।