मुहम्मदाबाद सीट: कांग्रेस के बदले अब सपा प्रत्याशी मैदान में, ये बदलाव अंसारी बंधु को जिताने के लिए तो नहीं?

0
66
मुहम्मदाबाद सीट: कांग्रेस के बदले अब सपा प्रत्याशी मैदान में, ये बदलाव अंसारी बंधु को जिताने के लिए तो नहीं?

गाजीपुर: गाजीपुर जिले की मुहम्मदाबाद सीट को लेकर जारी विवाद अब थमता नजर आ रहा है। गुरुवार (16 फरवरी) को नामांकन के आखिरी दिन से पहले तय हुआ कि अब यहां से समाजवादी पार्टी (सपा) के हैदर अली टाइगर उम्मीदवार होंगे। बता दें कि इस सीट से मुख्तार अंसारी के भाई सिगबतुल्लाह अंसारी मैदान में हैं।

बार दें इससे पहले यह सीट सपा-कांग्रेस गठबंधन के बाद कांग्रेस के जनक कुशवाहा को दी गई थी। वे यहां से नामांकन भी कर चुके थे। लेकिन गुरुवार सुबह कांग्रेस के जिला नेताओं ने सपा नेता की गुलाम नबी आजाद से बात करवाई, जिसके बाद ये बदलाव किया गया।

साइकिल सिंबल पर ही चुनाव लड़ने का फैसला
कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने फोन पर कहा कि वह चुनाव का सिंबल लखनऊ से भेज रहे हैं लेकिन बात नहीं बनी। जिसके बाद अखिलेश के भरोसेमंद नेताओं से बातचीत का दौर चला। आखिरकार मुहम्मदाबाद सीट से साइकिल के सिंबल पर ही चुनाव लड़ने का फैसला लिया गया। जिसके बाद हैदर अली टाइगर के नाम पर सहमति बानी।

क्या अंसारी बंधुओं की वजह से हुआ फैसला?
गाजीपुर के इस सीट पर बदलाव को लेकर राजनीतिक गलियारे में चर्चा है कि यह फैसला अंसारी बंधुओं की जीत तय करने के लिए किया गया है। क्योंकि जनक कुशवाहा की मौजूदगी में मुहम्मदाबाद में अंसारी बंधुओं का सीधा मुकाबला बीजेपी की अलका राय से होता दिख रहा था। जिसके बाद यह फैसला लिया गया है।

loading...