पुलिस की लापरवाही ने ली जान, पिता और भाई की गुमशुदगी से परेशान युवती ने की खुदकुशी

0
63
पुलिस की लापरवाही ने ली जान, पिता और भाई की गुमशुदगी से परेशान युवती ने की खुदकुशी
1 of 6

पुलिस की लापरवाही ने ली जान, पिता और भाई की गुमशुदगी से परेशान युवती ने की खुदकुशी

मुज़फ्फरनगर: एक तरफ जहां प्रदेश सरकार और उसकी पुलिस कानून व्यवस्था चाक चौबंद करने का दावा कर रही हैं, वहीं मुज़फ्फरनगर में पुलिस की लापरवाही से दुखी एक नवयुवती के ख़ुदकुशी कर लेने का मामला सामने आया है। युवती तीन दिन से लापता भाई और पिता की बरामदगी के लिए मुज़फ्फरनगर पुलिस के पास चक्कर काट रही थी।

फांसी लगाई
-मुज़फ्फरनगर के कोतवाली नई मंडी थाना क्षेत्र की अंकित विहार कॉलोनी में एक परेशान युवती ने आत्महत्या कर ली।
-बताया जा रहा है कि मृतक युवती के पिता देवप्रकाश एक कंपनी में काम करते हैं और तीन दिन पहले कंपनी के काम से लखनऊ गए थे।
-लखनऊ में अज्ञात बदमाशो ने देव प्रकाश से कंपनी के साढ़े चार लाख रूपये लूट लिए।
-इसकी जानकारी पीड़ित ने लखनऊ पुलिस और कंपनी के मालिक को भी दी।

-दो दिन बाद भी जब पीड़ित देव प्रकाश घर नहीं लौटे तो बेटा अक्षय भी पिता को खोजने निकल गया।
-लेकिन तीसरे दिन तक दोनों घर वापस नहीं लौटे तो बेटी ने स्थानीय पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।
-देव प्रकाश की पत्नी ने आरोप  लगाया कि कंपनी के मालिक युधिष्ठर पहलवान ने उसके पति और बेटे को बंधक बनाया लिया है।

पिता आये, नहीं लौटा भाई
-बेटी महिमा तीन दिनों से पुलिस के पास पिता और भाई की बरामदगी के लिये चक्कर काट रही थी, लेकिन पुलिस उन्हें टरकाती रही।
-मानसिक तनाव से गुजर रही बेटी ने आखिर घर के अंदर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।
-ख़ुदकुशी से पहले मृतका महिमा ने घर की दीवार पर लिखा था कि मेरे भाई अक्षय को वापस लाकर दो।
-महिमा की ख़ुदकुशी के बाद पुलिस उसके पिता को तो घर ले आई लेकिन भाई अक्षय का अब तक कोई पता नहीं लगा पाई है।

-पुलिस का कहना है कि देव प्रकाश को किसी ने बंधक नहीं बनाया था, और वह खुद घर लौट आये हैं।
-पुलिस के अनुसार बेटा खुद कहीं भाग गया है।

आगे स्लाइड्स में देखिये कुछ और फोटोज…

1 of 6