गुलाम नबी ‘आजाद’ का लखनऊ दौरा कल, गठबंधन पर करेंगे पार्टी का रूख साफ

प्रदेश कांग्रेस के ज्वाइन्ट मीडिया कोआर्डिनेटर पीयूष मिश्रा ने बताया कि बैठक में उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजबब्बर सांसद सहित वरिष्ठ नेतागण भी मौजूद रहेंगे।

लखनऊ: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव-प्रभारी उ0प्र0 गुलाम नबी आजाद, नेता प्रतिपक्ष राज्यसभा 13 जनवरी यानि कल लखनऊ आ रहे हैं। यहां वह पार्टी मुख्यालय में पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे। प्रदेश कांग्रेस के ज्वाइन्ट मीडिया कोआर्डिनेटर पीयूष मिश्रा ने बताया कि बैठक में उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजबब्बर सांसद सहित वरिष्ठ नेतागण भी मौजूद रहेंगे।

ये भी पढ़ें— शिवपाल ने मायावती पर किया पलटवार, कहा- पैसे के लिए टिकट कौन बेचता है…

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के तत्वावधान में कांग्रेस का देशव्यापी अभियान संविधान से स्वाभिमान बन्धु भाव एवं कार्यकर्ता सम्मेलन आज सम्पन्न हुआ। सांसद पी0एल0 पुनिया ने कहा कि सिर्फ मेहनत ही रंग लायेगी। जिन राज्यों में हमें जीत मिली है उसका श्रेय हमारे कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी केा है जिन्होने अथक परिश्रम से कांग्रेस पार्टी को तीन राज्यों में ऐतिहासिक विजय दिलायी। हम सभी को भी उ0प्र0 में पूरी मेहनत के साथ कार्य करना है।

ये भी पढ़ें— जानिए क्यों पासवान की बेटी ने पिता के खिलाफ ही खोल दिया मोर्चा, माफ़ी मांगने की कही बात!

सिद्धिश्री ने बताया कि कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए अनु0जाति विभाग के राष्ट्रीय कोआर्डिनेटर श्री राजकुमार कटारिया ने कहा कि राजनीति करने का उद्देश्य सत्ता सुख प्राप्त करना नहीं बल्कि जनता की सेवा करना है। उन्होंने कहा कि संगठन की ताकत सबसे बड़ी ताकत होती है हमें चेतना होगा सजग भी रहना होगा राजनीति के माध्यम से दलित समाज के जीवन स्तर को ऊंचा उठाना हैं स्थिति यह हो गयी है कि यूनिवर्सिटी और संस्थाओं में आरएसएस का पदार्पण हो चुका है। आप ऐसे लोगों को जो गांधीवादी एवं अम्बेडकर साहब की विचारधाराओं का अनुसरण करते हैं उन्हें समाहित करें।

पद्मश्री कृष्णराम चौधरी को घण्टों वेण्टीलेटर ही नहीं मिला: कांग्रेस प्रवक्ता

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन रावत ने आज जारी बयान में कहा कि राजधानी लखनऊ के केजीएमयू मे मशहूर शहनाई वादक व पद्मश्री कृष्णराम चौधरी को घण्टों वेण्टीलेटर ही नहीं मिला। ट्रामा सेन्टर में बुजुर्ग महिला को स्ट्रेचर न मिलने से उसने वहीं जमीन पर दम तोड़ दिया और उसके बेटे को अपनी मां का शव गोद में उठाकर ले जाना पड़ा। इतना ही नहीं इलाज न मिलने के चलते मरीज के तीमारदार धरने पर बैठ रहे हैं। सबसे गंभीर स्थिति तो यह है कि न्यूरो के मरीज को हास्पिटल का पर्चा बनने के बाद भी चैबीस घंटे से ज्यादा समय बीतने के बाद भी इलाज नहीं मिल सका।

ये भी पढ़ें— सपा-बसपा गठबंधन पर बोले पी चिदंबरम, अपने दम पर चुनाव लड़ेगी कांग्रेस

उत्तर प्रदेश में आम जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ लगातार जारी है। पिछले कुछ महीनों से जो स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही सरकार एवं चिकित्सकों द्वारा की जा रही है उससे यह साफ होता है कि स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह बेपटरी हो चुकी है। प्रदेश सरकार का बेहतर स्वास्थ्य सेवा का दावा पूरी तरह खोखला साबित हो रहा है।