सीएम योगी ने कहा- भारतीय कबड्डी के नये इतिहास की शुरूआत

गोरखपुर में पहली बार इस प्रतियोगिता की शुरुआत के साथ ही भारतीय कबड्डी के इतिहास के नये अध्याय की शुरुआत हो रही है। खेल की भावना खेल मैदान में ही नहीं बल्कि व्यक्गित एवं सार्वजनिक जीवन में भी अपनायी जानी चाहिए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अपने गृह जनपद गोरखपुर के रीजनल स्टेडियम में आयोजित ब्रम्हलीन परम पूज्य महन्त अवेद्यनाथ जी महाराज अखिल भारतीय प्राइजमनी पुरुष कबड्डी प्रतियोगिता के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

सीएम योगी ने कहा- भारतीय कबडडी के नये इतिहास की शुरूआत

लखनऊ: गोरखपुर में पहली बार इस प्रतियोगिता की शुरुआत के साथ ही भारतीय कबड्डी के इतिहास के नये अध्याय की शुरुआत हो रही है। खेल की भावना खेल मैदान में ही नहीं बल्कि व्यक्गित एवं सार्वजनिक जीवन में भी अपनायी जानी चाहिए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अपने गृह जनपद गोरखपुर के रीजनल स्टेडियम में आयोजित ब्रम्हलीन परम पूज्य महन्त अवेद्यनाथ जी महाराज अखिल भारतीय प्राइजमनी पुरुष कबड्डी प्रतियोगिता के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कार भी बांटे।

यह भी पढ़ें …….जानिए क्यों दिल्ली हाईकोर्ट की निगरानी में शनिवार को होगा कबड्डी मैच

उन्होंने कहा कि सरकार खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक योजनाएं चला रही है। सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में कुल 16 खेलों में 19 जनपदों में 44 छात्रावास संचालित हैं। प्रदेश में 3 स्पोर्टस काॅलेज लखनऊ, गोरखपुर एवं सैफई में संचालित है। जनपद में निर्मित क्रीड़ांगनों में 30 खेलों में 533 प्रशिक्षकों द्वारा स्थानीय प्रशिक्षण शिविर चलाए जा रहे हैं।

प्रदेश के 66 जिलों में 71 स्टेडियम, 67 बहुद्देशीय हाॅल, 38 तरणताल, 18 छात्रावास भवन, सिन्थेटिक टेनिस कोर्ट, 19 डाॅरमेट्री, 9 कुश्ती हाल, 5 शूटिंग रेन्ज, 8 सिन्थेटिक हाॅकी मैदान, 2 फ्लड लाइटयुक्त सिन्थेटिक हाॅकी स्टेडियम एवं 10 स्टेडियमों में अत्याधुनिक जिम उपकरण स्थापित हैं।

यह भी पढ़ें …….Asian Games 2018: भारतीय महिला कबड्डी टीम का विजयी आगाज

वर्ष 2018 में काॅमनवेल्थ गेम्स में 18 प्रतिभागियों ने 2 स्वर्ण, 2 रजत, 3 कांस्य इस प्रकार कुल 7 पदक और एशियन गेम्स में 45 प्रतिभागियों ने कुल 11 पदक अर्जित किये। प्रदेश सरकार द्वारा खिलाड़ियों को 6 करोड़ 45 लाख रुपए की नकद धनराशि से पुरस्कृत किया गया।

यह प्रतियोगिता एक दिसम्बर से 4 दिसम्बर तक चली। इसमें 12 टीमों के लगभग 170 खिलाड़ियों ने भाग लिया। विजयी प्रतिभागियों में आईटीबीपी प्रथम, इंडियन नेवी द्वितीय और उत्तर प्रदेश तृतीय स्थान पर रहा। विजयी प्रतिभागी प्रथम को स्वर्णपदक, द्वितीय को रजत पदक और तृतीय को कांस्य पदक दिया गया।

यह भी पढ़ें …….भारत ने पाकिस्तान को शिकस्त देकर जीती एशियाई कबड्डी चैंपियनशिप