कर्ज चुकाने का मामला: घरवालों के खिलाफ आपतिजनक टिप्पणी करने पर बकायेदार ने किया था मर्डर

मिर्जापुर पुलिस ने बीते 14 नवंबर की रात्रि को एक व्यक्ति की हत्या के मामले में आज आरोपियों की गिरफ्तारी कर घटना का खुलासा कर दिया। बताया जा रहा है कि युवक की हत्या करने से पहले उसे शराब पिलाई गई थी। उसके बाद उसकी धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी।

मिर्जापुर: मिर्जापुर पुलिस ने बीते 14 नवंबर की रात्रि को एक व्यक्ति की हत्या के मामले में आज आरोपियों की गिरफ्तारी कर घटना का खुलासा कर दिया। बताया जा रहा है कि युवक की हत्या करने से पहले उसे शराब पिलाई गई थी। उसके बाद उसकी धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने आरोपियों को जेल भेज दिया है।

ये है पूरा मामला
विंध्याचल के बिरोहि गांव निवासी रामलाल यादव ने हुंडी का व्यापार करने वाले व्यक्ति प्रेमशंकर दुबे से 20 हजार रुपये ब्याज पर लिया था। जिसका वह हर महीने समय- समय पर 11 सौ रुपये ब्याज भी चुकता था। लेकिन जब रामलाल के पत्नी की तबीयत खराब हो गयी तो वह दो महीने से ब्याज नहीं दे पाया और अपनी पत्नी के इलाज में पैसा खर्च कर दिया। इधर प्रेमशंकर दुबे ने ब्याज के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया।

एक दिन प्रेमशंकर दुबे ने अमरावती चौराहा पर रामलाल के किराए की दुकान पर अपने पैसे के लिए दबाव बनाने लगा और फिर रामलाल की पत्नी और उसके बहु के ऊपर भी अश्लील शब्दो का प्रयोग करने लगा। जिस पर रामलाल के पुत्र अभियुक्त विनय कुमार यादव को माँ और पत्नी के ऊपर अश्लील शब्दो का प्रयोग अरुचिकर लगा जिसकी वजह से विनय कुमार ने बताया कि वह 13 नवम्बर को ही प्रेमशंकर दुबे की हत्या करने का योजना बना लिया था।

उसने बताया कि वह अपने ही दुकान से लकड़ी का धारदार हथियार पहले से चुनकर निश्चित स्थान पर ले जाकर रख दिया और प्रेमशंकर दुबे के साथ प्रेमशंकर के वाहन से संदीप होटल के पास से बैठकर अष्टभुजा पहाड़ी पर ले जाकर शराब पिलाया और पूर्व से चिन्हित स्थान पर ले जाकर नुकीले लकडी के धारदार हथियार से प्रेमशंकर दुबे की निर्मम तरीके से हत्या कर दिया और पास में ही नानी के घर फरार हो गया।

ये भी पढ़ें…मिर्जापुर, उत्तर प्रदेश: बाण सागर परियोजना का लोकार्पण और मिर्जापुर मेडिकल कॉलेज का पीएम नरेंद्र मोदी ने किया शिलान्यास