कुत्ते की वजह से द्रौपदी हुई थी शर्मसार, उनको दिया था यह श्राप

0
524

जयपुर: आमतौर पर कुत्तों को खुले में संबंध बनाते हुए कई लोगों ने देखा होगा, लेकिन क्या जानते हैं इसके पीछे वजह और पौराणिक कथा है।
कहते हैं कि द्रौपदी के किसी श्राप के कारण, कुत्ते खुले में संबंध बनाते हैं। मान्यताओं के अनुसार यह कथा महाभारत काल से ली गई है। जब अर्जुन विवाह करके द्रौपदी को घर लाए थे तो माता कुंती ने बिना देखे अनजाने में कह दिया कि सभी भाई मिलकर बराबर-बराबर उसका इस्तेमाल करो। माता कुंती की बात मानते हुए सभी भाइयों ने द्रौपदी से विवाह कर लिया। पांडवों ने इस बात को निर्धारित किया कि द्रौपदी हर साल एक ही पांडव के साथ अपना समय व्यतीत करेगी। इस दौरान एक ऐसी घटना हुई, जिसकी वजह से कुत्तों को यह श्राप मिला की उनको सहवास करते हुए पूरी दुनिया देखेगी। ऐसा माना जाता है कि जब भी कोई एक पांडव द्रौपदी के कक्ष में जाता था तो वह अपनी पादुकाएं दरवाजे पर ही उतार दिया करता था ताकि कोई दूसरा पांडव कक्ष में प्रवेश ना करें।

यह भी पढें…धान से नहीं, इस महर्षि की मेधा शक्ति से हुई चावल की उत्पत्ति, इस दिन इसे खाना हैं वर्जित

एक बार जब अर्जुन अपनी पादुकाएं दरवाजे के बाहर उतार कर द्रोपदी के साथ प्रेम प्रसंग में लीन थे, तभी वहां पर एक कुत्ता आया और खेल-खेल में उस कुत्ते ने अर्जुन की पादुकाएं उठा ली और पास के जंगल में जाकर उसके साथ खेलने लगा। उसी दौरान भीम अपने कक्ष की ओर प्रस्थान कर रहे थे, उन्होंने देखा की द्रौपदी के कक्ष के बाहर कोई पादुकाएं नहीं रखी है, तो उन्हें लगा कि द्रौपदी के कक्ष में कोई नहीं है और वो कमरे में प्रवेश कर गए।

इस तरह से भीम को अपने कक्ष में देखकर द्रौपदी शर्मिंदा हो गयी। साथ ही उन्होंने क्रोधित होते हुए उसने भीम से कहा कि उसने कक्ष में प्रवेश कैसे किया, जब कि अर्जुन ने अपनी पादुका दरवाजे के बाहर उतारे हैं। इस पर भीम ने कहा कि कोई भी पादुका दरवाजे पर नहीं हैं। जब सभी ने अर्जुन की पादुकाएं खोजनी शुरू कर की तो वो ढूंढते-ढूंढते पास के जंगल में पहुंच गए और वहां उन्होंने देखा की एक कुत्ता अर्जुन की पादुकाओं का साथ खेल रहा है।

 

यह भी पढें…14 सितंबर : किस राशि के लोगों पर होगी गुरु की तिरछी नजर, पढ़ें गुरूवार राशिफल

बस फिर क्या था, द्रौपदी को उस घटना से लज्जित हुई थीं और उन्हें क्रोध आया और उन्होंने कुत्ते को यह श्राप दे दिया कि जैसे आज मुझे किसी ने संबंध बनाते देखा है उसी तरह तुम्हें सारी दुनिया संबंध बनाते देखेगी, मान्याताओं के अनुसार ऐसा कहा जाता है कि उसी समय से कुत्ते संबंध बनाते समय किसी लज्जा की चिंता नहीं करते हैं।