बच्चे को देना चाहते हैं पॉजीटिव एनर्जी तो उसके कमरे के इंटीरियर पर भी दें ध्यान

0
92

जयपुर: घर की इंटीरियर करना इतना मुश्किल नहीं है जितना की बच्चो के कमरे की इंटीरियर डिजाइनिंग है क्यूंकि बच्चो का कमरा बहुत ही खास होता है। कमरे की सजावट उनके विकास पर असर डालती है। इसलिए जरूरी है कि अपने बच्चो के कमरे को इस तरीके सजाये की उनका विकास अच्छा हो और उन्हें किसी भी तरह की कोई परेशानी नही हो। बच्चा अपने कमरे से बहुत प्यार करता है इसलिए उसके कमरे की सजावट उसी के हिसाब से हो तो बेहतर रहता है।  बताएँगे बच्चो के कमरे की सजावट किस तरह से करनी है, जानिए

*अपने बच्चों की कला में रूचि बढ़ाना चाहते हैं, तो उनके कमरे को सजाने के लिए आर्ट गैलरी भी बनावा सकते है या फिर कई तस्वीरें लगा सकते हैं। बच्चों के कमरे की दीवारों पर कार्टून वॉलपेपर लगवा सकते हैं।बच्चे के कमरे में लाल, नीले, भूरे रंग या उनके पसंदीदा रंग करवाना चाहिए। कमरा अगर उनकी पसंद से सजा हो तो वह उनको बहुत अच्छा लगता है।

* बच्चों के कमरे में सिर्फ जरूरत का सामान ही रखें, जिसकी जरूरत ना हो, उसे बच्चे के कमरे में ना रखे।

 

* बच्चों के कमरें में साफ-सफाई की ध्यान जरूर रखें और बच्चों के कमरे को कलरफुल बनाकर रखें, इससे बच्चे अपने कमरे में ज्यादा वक्त गुजारना पसंद करेंगे।

*बच्चो के कमरे में रोशनी का पूरा इंतजाम होना चाहिए। अच्‍छी और हल्‍की रोशनी वाली लाइट्स कमरे की खूबसूरती को और बड़ा देती हैं। अगर आप महंगी लाइट्स नहीं लगावा सकते तो मार्किट से सस्ती लाइट खरीद कर भी लगा सकते हैं।

Facebook Comments