saharanpur

यूपी सरकार ने सहारनपुर और कुशीनगर में जहरीली शराब कांड की जांच का जिम्मा एसआईटी को सौंपने का निर्णय लिया है।सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर रविवार देर रात जहरीली शराब की घटनाओं की समग्र जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया। जांच दल को 10 दिन में अपनी रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं।

जनपद में जहरीली शराब एक बार फिर शुक्रवार की सुबह तहसील सदर व देवबंद के ग्रामों उमाही, सरबतपुर, कोलकी कला, माली, सलेमपुर, मायाहेड़ी के दर्जनों परिवारों के ऊपर मौत के रूप में कहर बनकर टूटी।  जहरीली शराब के सेवन से करीब 45 से अधिक लोगों ने जाने गवा दी और दर्जनों के करीब जिंदगी मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद कुशीनगर और सहारनपुर में अवैध शराब से हुई लोगों की मृत्यु की घटना का संज्ञान लिया है। उन्होंने इन जनपदों के जिलाधिकारियों को प्रभावित व्यक्तियों की समुचित चिकित्सा सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये हैं।

सहारनपुर पुलिस ने बुधवार को बाइक पर कथित रूप से गोमांस बेचने जा रहे दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है और उनके पास से एक क्विंटल गोमांस बरामद किया गया है। एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने बताया कि थाना जनकपुरी पुलिस ने एक मुखबिर की सूचना पर कार्यवाही की गई है।

बाइक सवार दो युवकों ने बुधवार को देहात कोतवाली क्षेत्र में चिलकाना रोड पर स्कूल जा रही कक्षा दस की छात्रा पर एसिड फेंक दिया और फरार हो गए। घायल छात्रा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस भर्ती परीक्षा में एक बार फिर सॅाल्वर गैंग की सक्रियता का खुलासा हुआ है। पुलिस ने अलग-अलग परीक्षा केंद्रों पर चेकिंग के दौरान सॅाल्वर गैंग के ऐसे सात सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जो मोटी रकम लेकर वास्तविक अभ्यर्थियों के स्थान पर परीक्षा दे रहे थे।

सूबे की राजधानी लखनऊ के शिल्पग्राम में आयोजित कार्यक्रम के दौरान पशु उत्पादन करने वाली सहारनपुर की इंडियन हब्र्स को राज्य स्तर पर प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया है। यह पुरस्कार उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक और सीएम योगी आदित्यनाथ ने कंपनी के डायरेक्टर विपुल अग्रवाल को प्रदान किया है।

इस साल गन्ने के उत्पादन में गत वर्ष के मुकाबले 8 से 10 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की जा रही है जिसे लेकर किसानों में बैचेनी है। दरअसल किसान की लागत निरंतर बढ़ती जा रही है जबकि गन्ना भाव स्थिर बने हुए है। ऐसे में अगर उत्पादन में भी कमी दर्ज की जा रही है तो बैचेनी स्वाभाविक है। इस सब के बावजूद न किसान को समय पर गन्ना मूल्य भुगतान मिल रहा है और न ही देरी से भुगतान पर ब्याज। किसान को अपना काम साहूकार व बैंक से महंगे ब्याज पर कर्ज लेकर चलाना पड रहा है।

युवतियों का फेसबुक पर अपरिचित को मित्र बनाना कभी-कभी खतरनाक भी साबित हो सकता है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में मामला सामने आया है। एक युवक ने अपनी फेसबुक फ्रेंड की ही आपत्तिजनक फोटों फेसबुक और व्हाट्सएप पर डाल दी। युवती ने आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

विकास की अंधाधंधु दौड़ के चलते पर्यावरण को भारी नुकसान पहुंच रहा है। इसका खामियाजा जनता को ही भुगतना पड़ रहा है। नगरीय क्षेत्र में भले ही लोगों को पौधे लगाने के लिए कसरत करनी पडे़ लेकिन सहारनपुर जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी लोग प्रकृति से गहरा लगाव रखते हैं।