chhattisgarh

जयपुर: छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले की अंशु देशलहरा जैन साध्वी बनने का खबर  है। वो मांगीलाल हीरालाल देशलहरा परिवार की लाड़ली पोती और  युधिष्ठर देशलहरा की पुत्री है। अंशु देशलहरा की जैन भगवती दीक्षा मध्य भारत की प्रसिद्ध महाकाल की धार्मिक नगरी उज्जैन में 18 फरवरी को परम पूज्य गुरुदेव खतरगच्छाधिपति आचार्य प्रवर श्री जिनमणि …

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल की कैबिनेट के सभी 12 मंत्री और राजस्थान में अशोक गहलोत की कैबिनेट के 25 मंत्री करोड़पति हैं। बघेल सहित छत्तीसगढ़ के दो मंत्री और गहलोत के नौ मंत्रियों ने आपराधिक मामलों का सामना किया है।

टाटा स्टील संयंत्र के लिए आदिवासी बहुल बस्तर के लोहांडीगुड़ा क्षेत्र में जिन किसानों की भूमि अधिग्रहित की गई थी, उन्हें उनकी भूमि वापस की जाएगी। सीएम भूपेश बघेल ने अधिकारियों को इसके लिए जरूरी प्रक्रिया जल्द पूर्ण करने और मंत्रिपरिषद की आगामी बैठक में प्रस्ताव लाने के निर्देश दिए।

छत्तीसगढ़ में नवनिर्वाचित कांग्रेस सरकार के मंत्रिमंडल गठन और विस्तार के लिए पार्टी आलाकमान से मंजूरी मिल गई है।छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार मंगलवार 25 दिसंबर को होगा।

छ्त्तीसगढ़ का बस्तर नक्सलियों का गढ़ है, तो वहीं दूसरी तरफ प्रकृति का सौदर्य भी अपने में समाए हुए है। बस्तर भोले-भाले आदिवासियों की लोक संस्कृति, संघर्ष, जिजिविषा और परंपराओं वाला है। इसी में से एक है बस्तर का कुतुल बाजार।

सोने-चांदी के जवेर महिलाएं बहुत करती हैं, लेकिन आज हम आपको धान के जेवरों के बारे में बताए जा रहे हैं। धान के जेवरों की लोकप्रियता इतनी बढ़ गई है कि इनकी डिमांड दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। छत्तीसगढ़ में महिलाओं का एक समूह धान से नौलखा हार, ईयर रिंग, टॉप्स समेत तरह-तरह के खूबसूरत गहने बना रहा है।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने छत्तीसगढ़ के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पद की शपथ दिलवाई। शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस व अन्य दलों के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। भूपेश बघेल के साथ टीएस सिंह देव और ताम्रध्वज साहू ने मंत्री पद की शपथ ली।

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है। ऐसे में गुरूवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अध्यक्षता वाली बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ का नाम मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के तौर पर तय कर दिया गया है।

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में बीजेपी कि हार ने साबित कर दिया कि 'चाउर वाले बाबा' का जादू फेल हो चुका है। आपको बता दें, सीएम रमन सिंह 'चाउर वाले बाबा' के नाम से मशहूर हैं। आइए जानते हैं कि ऐसा क्या हुआ कि जो व्यक्ति 15 सालों तक प्रदेश का सीएम रहा कैसे एक ही झटके में उसका किला ताश के महल की तरह बिखर गया।

रमन सिंह के पंद्रह साल के शासनकाल पर पलीता लगाने वाले कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ के नये मुख्यमंत्री की दौड़ में सबसे आगे हैं। दिलचस्प यह है कि भूपेश बघेल के आसपास दूर-दूर तक कोई नेता है ही नहीं। परंतु सांसद सामल दत्त साहू, नेता प्रतिपक्ष टी.एस. बाबा और पूर्व केंद्रीय मंत्री चरण दास महंत का भी नाम लिया जा रहा है।