अब संसारिक मोह का त्याग कर देगी अंशु, साध्वी बनने से पहले मनाया धूमधाम से जन्मदिन

जयपुर: छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले की अंशु देशलहरा जैन साध्वी बनने का खबर  है। वो मांगीलाल हीरालाल देशलहरा परिवार की लाड़ली पोती और  युधिष्ठर देशलहरा की पुत्री है। अंशु देशलहरा की जैन भगवती दीक्षा मध्य भारत की प्रसिद्ध महाकाल की धार्मिक नगरी उज्जैन में 18 फरवरी को परम पूज्य गुरुदेव खतरगच्छाधिपति आचार्य प्रवर श्री जिनमणि प्रभु सूरीश्वर जी म.सा. की पावन में दीक्षित होने जा रही है। दीक्षा के इस पावन अवसर पर अंशु देशलहरा के सांसारिक जीवन के अंतिम पलों को परिवार व जैन श्री संघ द्वारा दो दिनों के पांरपरिक रीती-रिवाजों के साथ मांगलिक प्रसंगों को भव्यता के साथ संपन्न किया जा रहा है जिसमें कुमकुम गालना, संयम उपकरण, वंदनवली, भव्य शोभायात्रा शामिल है।

राजस्थान: केएल राहुल, हार्दिक पांड्या और करण जौहर के खिलाफ केस दर्ज

अंशु के दादा ने बताया, बी.कॉम की पढ़ाई कर चुकी अंशु देशलहरा ने आज से चार वर्ष पूर्व नारायणपुर में आये जैन साध्वी के प्रवचन से प्रभावित होकर सांसरिक जीवन त्याग करने का मन बनाया और साध्वी जीवन जीने की इच्छा परिवार के सामने रखी। परिवार के सदस्य ये सुनकर अचंभित हो गए और कहने लगे कि वह छोटी-सी उम्र में साध्वी का जीवन किस तरह से व्यतीत करेगी। लेकिन अंशु के दृढ़ संकल्प के आगे सब नतमस्तक हो गए और उसे साध्वी बनने की आज्ञा दे दी। इन चार वर्षों में अंशु देशलहरा जैन साध्वियों के साथ जीवन व्यतीत करने लग।. अंशु के संयम को परखने के बाद उसे दीक्षा के लिए जैन साध्वी से अनुमति मिल गई और 18 फरवरी को मध्य भारत की प्रसिद्ध महाकाल की धार्मिक नगरी उज्जैन में अंशु की दीक्षा संपन्न होगी जिसको लेकर पूरे परिवार और नगर में ख़ुशी का माहौल बना हुआ है।

 

अंतरिक्ष में ISRO की एक और उपलब्धि, GSAT31 को फ्रेंच गुयाना से किया लॉन्‍च

अंशु के दीक्षा से पूर्व देशलहरा परिवार द्वारा उसके वंदन-अभिनंदन में सांसारिक जीवन से संबंधित दो दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन 4 और 5 फरवरी को किया , जिसमें कुमकुम गालना, संयम उपकरण, वंदनवली, स्वामीवात्सल्य प्रीतिभोज का आयोजन किया गया. वहीं, मुंबई के सुप्रसिद्ध संगीतकार अनिल सालेचा एंड पार्टी द्वारा भजन संध्या की प्रस्तुति दी गई।इस दौरान अंशु का सांसरिक जीवन का अंतिम जन्मदिन बड़ी धूमधाम के साथ मनाया गया। 5 फरवरी को वर्षीदान का भव्य शोभायात्रा मुमुक्ष बहन अंशु देशलहरा के घर से नगर के विभिन्न मार्गों से निकाली गई नगर के सभी लोग महिला, पुरुष, बुजुर्ग, बच्चे बड़े संख्या में उसे आशीर्वाद देने बड़ी संख्या में शोभायात्रा में शामिल हुए।वहीं, परिवार और समाज के सभी लोगों को अंशु ने राखी बांधकर उनके गिफ्ट की तौर पर त्याग भावना की शपथ सभी को दिलाई गई।