रिसर्च:दूसरों को खूब दें उपहार, दुखों से मिलेगा निजात, हरदम रहेंगे खुशहाल

जयपुर: वैज्ञानिकों ने अपनी एक खोज में पाया है कि किसी को कुछ देने का आनंद कभी खत्म नहीं होता और दूसरों को अक्सर उपहार देते रहने की प्रवृत्ति लंबे समय के लिये  खुशी की अनुभूति देती है। ‘साइकोलॉजिकल साइंस’ पत्रिका में प्रकाशित शोध के अनुसार, किसी खास आयोजन या गतिविधि में शामिल होने से जो हमें खुशी मिलती है वह समय के साथ धीरे-धीरे कम होती जाती है। इस तरह की घटना को सुख के रूपांतरण के तौर पर जाना जाता है।

शोध के अनुसार, लोगों को कुछ देना इस नियम का अपवाद हो सकता है।अमेरिका में शिकागो विश्वविद्यालय और नॉर्थवेस्टर्न विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने दो अध्ययनों में पाया कि उपहार लेने वालों की बजाय जिन प्रतियोगियों ने दूसरों को अधिक से अधिक उपहार दिया, उनकी खुशी में कमी नहीं आई। शिकागो विश्वविद्यालय से एड ओब्रायन ने कहा, ‘‘पुराने शोध यह बताते हैं कि अगर आप अधिक समय तक खुश रहना चाहते हैं तो इस वक्त आप जो कुछ भी कर रहे हैं उससे थोड़े समय के लिये ब्रेक लें और कुछ नया अनुभव करें।’’

रात में स्मार्टफोन लेकर सोना आपको बना सकता है नपुंसक, देखिये ऐसे2019/01/09

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा शोध यह खुलासा करता है कि इस तरह की बात मान लेना कहीं अधिक मायने रखता है कि बार-बार किसी को समभाव तरीके से कुछ देते रहना हमें अपेक्षाकृत कहीं अधिक ताजगी महसूस कराता है।’’एक प्रयोग में विश्वविद्यालय के छात्र प्रतिभागियों को पांच दिन के लिये हर दिन पांच अमेरिकी डॉलर दिये गये जो उन्हें उसी दिन खर्च करना होता था।

शोधकर्ताओं ने इसके बाद कुछ प्रतिभागियों को यह पैसा अपने ऊपर खर्च करने को कहा जबकि कुछ को किसी और पर खर्च करने को कहा, जैसे कि उसी कैफे में टिप जार में रखने या हर दिन उतनी ही राशि किसी ऑनलाइन दान पर खर्च करने को कहा। कुल 96 प्रतिभागियों से प्राप्त आंकड़े में एक स्पष्ट पैटर्न दिखा : जिन प्रतिभागियों ने पैसे दूसरों पर खर्च किये उनमें आत्म प्रसन्नता का स्तर बढ़ना शुरू हो गया, जबकि जिन्होंने पैसे खुद पर खर्च किये उनकी प्रसन्नता में धीरे-धीरे कमी आयी।