जानिए क्यों पासवान की बेटी ने पिता के खिलाफ ही खोल दिया मोर्चा, माफ़ी मांगने की कही बात!

आशा पासवान का कहना है कि उनके पिता ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर निशाना साधते हुए ही उन्हें ही अंगूठा छाप कहा है। ऐसा कहकर उन्होंने पूरे महिला समाज को अपमानित किया है, मेरी मां को अपमानित किया है। इसके लिए रामविलास पासवान को राबड़ी देवी से मांफी मांगनी होगी नहीं तो उनके खिलाफ मैं आंदोलन करूंगी।

पटना: केंद्रीय मंत्री और लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान की बेटी ने अपने ही पिता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उनकी नाराजगी की वजह पासवान का हाल ही महिला समाज के ऊपर दिया एक बयान है। जो उन्हें नागवार गुजरी है। उन्होंने अपने पिता के उस बयान को महिला समाज को अपमानित करने वाला बयान बताया है। कहा कि पापा को माफी मांगनी पड़ेगी, उन्होंने महिला समाज को अपमानित किया है।

ये भी पढ़ें…चंडीगढ़ में बोले रामविलास पासवान- 2024 के लिए कांग्रेस और विपक्ष कर सकते हैं कड़ी मेहनत लेकिन 2019 में नहीं कोई ऑप्शन

ये है पूरा मामला
दरअसल शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बिना राबड़ी देवी का नाम लिए चुटीले अंदाज में कहा था कि नारा लगाते-लगाते लोग अंगूठा छाप को भी सीएम बना देते हैं। अपने पिता का जिक्र करते हुए आशा ने कहा कि मेरी मां को अंगूठा छाप होने के कारण ही उन्होंने छोड़ा था।

मैं उनको सबक सिखा दूंगी। मेरे पिता ने सिर्फ एक नहीं बल्कि देश भर की महिलाओं का अपमान किया है। अब मैं उनके खिलाफ एलजेपी कार्यालय के सामने धरना दूंगी और हाजीपुर तक जाकर बताउंगी की अंगूठा छाप क्या होती है?

ये भी पढ़ें…रायबरेली:BJP कार्यकर्ताओं ने रामविलास पासवान के मुर्दाबाद के नारे लगाए

आशा पासवान का कहना है कि उनके पिता ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर निशाना साधते हुए ही उन्हें ही अंगूठा छाप कहा है। ऐसा कहकर उन्होंने पूरे महिला समाज को अपमानित किया है, मेरी मां को अपमानित किया है। इसके लिए रामविलास पासवान को राबड़ी देवी से मांफी मांगनी होगी नहीं तो उनके खिलाफ मैं आंदोलन करूंगी।

आशा पासवान ने कहा कि पापा ने माफी नहीं मांगी तो वो लोजपा दफ्तर के बाहर धरने पर बैठेंगी साथ में उनके संसदीय क्षेत्र हाजीपुर में उनके खिलाफ प्रचार भी करेंगी।

ये भी पढ़ें…विधानसभा चुनाव में हार पर रामविलास पासवान बोले- लोकसभा चुनाव पर नहीं पड़ेगा असर