अब कृषि मंत्री का अखिलेश यादव पर पलटवार, कहा- 42 करोड़ का कैसा समाजवाद

0
195

कानपुर: पूर्व सीएम अखिलेश यादव के सरकारी बंगले को लेकर  अब सूबे के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने पलटवार किया है। उन्‍होंने कहा कि मुझे आश्‍चर्य है कि एक पुराने बंगले पर 42 करोड़ रुपये उनकी सरकार ने खर्च कियाl जिस प्रदेश के अन्दर करोडो लोगों के पास रहने के लिए मकान नहीं है। वहीं एक मुख्‍य सेवक अपने मकान की व्यवस्था के लिए 42 करोड़ रुपये खर्च करता है, यह कौन सा समाजवाद है l उस समाजवाद का उत्तर अखिलेश यादव को देना चाहिएl जो तोड़फोड़ उन्होंने की वो उनकी निजी संपत्ति नहीं थी l प्रदेश की जनता की गाढ़ी कमाई के टैक्स से प्राप्त किए गए खजाने का पैसा था l उनको कौन सा अधिकार था उसमें तोड़-फोड़ करने का। इस बात का स्‍पष्‍टीकरण उन्‍हें देना चाहिए।

गवर्नर ने किया जिम्‍मेदारी का पालन

कानपुर के विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुचे कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि राज्यपाल महोदय ने बंगले के विवाद में पत्र लिखा है, उन्होंने अपनी जिम्मेदारी का पालन किया हैl रालोद सुप्रीमो चौधरी चरण सिंह पर हमला करते हुए कहा कि जब चौधरी अजित सिंह देश के खाद्य आपूर्ति मंत्री थे तब गन्ने की सभी मिलें चालू हालत में थींl उस वक्त तीन-तीन साल के बकाये क्यों थेl

उन्होंने कहा आज तो 3 साल का बकाया नही है ,केंद्र सरकार ने इस साल भी 8500 करोड़ रुपये का पैकेज दिया हैl गन्ना क्षेत्र के लिए ,पाकिस्तान से कितनी चीनी आई है ,अजित सिंह जो  कहते हैं वो सही जो देश की सरकार कहे वो गलत ,जो रिकार्ड बताये वो गलतl गन्ना किसान के लिए मोदी सरकार ने जिस वक्त सपा की सरकार थी तीन-तीन साल का बकाया था l हमने 5600 करोड़ का पैकेज दिया था 2015-2016 में 2800- 8200 करोड़ का पैकेज दिया और इस साल 8 हजार करोड़ पैकेज दिया l

अखिलेश यादव के कार्यकाल में भी करोड़ों बकाया रहा

अखिलेश यादव 14 हजार करोड़ रुपये बकाया छोड़ कर गए थे। उनके सभी बकाये का भुगतान हमने कियाl यदि उन्हें गन्ना किसानो की चिंता थी तो 280 रुपये कुंतल के हिसाब से भुगतान करने की घोषणा करने के बाद 240 रुपये कुंतल के हिसाब से भुगतान क्यों कियाl हमारी चलती हुई 32 चीनी मिलों को मायावती ने बेंचा था। मायावती ने कितना नुकसान किया हैl अखिलेश यादव ने कहा था बेचीं गई चीनी मिलों की जाँच करायेंगेl 2012 से 2017 तक रहे लेकिन अखिलेश सरकार ने मायावती के खिलाफ चूं तक नहीं बोलाl

बीजेपी ही बनाएगी मंदिर

मंदिर मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि साधू संत जानते हैं कि मंदिर तभी बनेगा जब बीजेपी रहेगीl हम कोशिश कर रहे। सुप्रीम कोर्ट में भी हम अच्छे से पैरवी कर रहे हैं। कोर्ट का निर्णय आना बाकी हैl सपा बसपा गठबंधन पर बोलते हुए कहा कि अब तो लुटने और लुटाने वाले दोनों साथ में आ गए हैं।

Facebook Comments