अपनी नई पहचान से खुश वनटांगिया समुदाय, CM योगी की पहल पर नाम होगी 635 एकड़ जमीन

0
36
अपनी नई पहचान से खुश वनटांगिया समुदाय, CM योगी की पहल पर नाम होगी 635 एकड़ जमीन
1 of 14

 

गोरखपुर: पूर्वी उत्तर प्रदेश के जनपद गोरखपुर और महराजगंज के जंगलों में निवास करने वाले 40 हजार वनटांगियों के लिए योगी सरकार एक वरदान बनकर आई है। योगी आदित्‍यनाथ के यूपी का सीएम बनने के बाद से अब सभी वनटांगियां गावों को राजस्‍व ग्राम का दर्जा मिलने लगा है और कल तक जो बड़े अधिकारी इनको नजरअंदाज किया करते थे, आज वह इनके गांव में कैंप लगाकर सुबह से लेकर शाम तक इनको राशन, पेंशन, स्‍वास्‍थ्‍य और शिक्षा के साथ आधार कार्ड और दूसरी सुविधाएं दे रहे हैं।

बता दें, कि गोरखपुर के कुसुम्‍ही जंगल में वनग्राम तिकोनिया नंबर-3 के रहने वाले सैंकड़ों लोग आज काफी खुश हैं। आज इनके गांव में जिले के अधिकारियों की पूरी टीम उतर कर इन लोगों के परिवार सहित गांव के सभी लोगों को राशन, पेंशन, सड़क, बिजली, पानी, स्‍वास्‍थ्‍य और शिक्षा की सुविधा कैंप लगाकर दी जा रही है। इस दिन के इंतजार में वनटांगिया मजदूरों की कई पुश्‍तें संघर्ष करते गुजर गईं पर सफलता मिली तो योगी आदित्‍यनाथ के सीएम बनने के बाद।

तिकोनिया नंबर-3 में रहने वाले कई सौ परिवार वालों के लिए अब हर दिन किसी दीवाली से कम नहीं है। इनको यहां पर अंग्रेजों द्वारा जंगल में पेड़ लगाने के लिए लाया गया और जंगल के बीच इनको बसाया गया। आजादी के बाद अंग्रेज तो अपने देश चले गए पर यह वनटांगिया इन्‍ही जंगलों के बीच रह गए। गोरखपुर और महराजगंज के जंगलों में इन वनटांगियों के लगभग दस हजार से ज्यादा परिवार हैं जो कई दशकों से अपना आशियाना बनाकर रह रहे हैं। आजादी के बाद से ही इनको मुख्‍यधारा में लाने के तमाम दावे हुए, पर दावे अमलीजामा नहीं पहन सके। आजतक इनको भारतीय नागरिक होने के प्रमाण आधार या मतदाता पहचान पत्र भी नहीं मिल पाया था।

अगली स्लाइड में जानिए कौन हैं वनटांगिया …

1 of 14