इस्लामाबाद: अमेरिका ने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) के सरगना मुल्ला फजलुल्लाह को अफगानिस्‍तान के पूर्वी कुनार प्रांत में ड्रोन से निशाना बनाया और मार गिराया । अमेरिकी सेना के एक अधिकारी ने वॉयस ऑफ अमेरिका (VOA) से शुक्रवार को इसकी पुष्टि की।

यह भी पढ़ें: ट्रंप ने 50 अरब डॉलर मूल्य के चीनी सामान पर आयात शुल्क को मंजूरी दी

लेफ्टिनेंट कर्नल मार्टिन ओ’डोनेल ने बताया कि अमेरिकी सेना ने अफगानिस्‍तान-पाकिस्‍तान बॉर्डर से सटे कुनार प्रांत में आतंकियों के खात्‍मे के लिए 13 जून से ही अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियान के तहत ड्रोन हमले में फजलुल्लाह को निशाना बनाया गया। अलकायदा के करीबी संगठन तहरीक-ए-तालिबान ने ही फैजल शहजाद को टाइम्स स्कॉयर में हमला करने के लिए ट्रेनिंग दी थी।

पाकिस्तानी समाचार चैनल जियो न्यूज ने ओ ’डोनेल के हवाले से बताया कि अमेरिकी सुरक्षा बल अफगान सरकार द्वारा तालिबान के साथ किए गए संघर्ष विराम का पालन कर रहे हैं। हालांकि अमेरिकी मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक फजलुल्लाह को निशाना बनाकर यह हमला किया गया।

यह भी पढ़ें: ईरान के हाफिज शिराजी का क्या है इनका भारत कनेक्शन?

अमेरिका के विदेश विभाग ने मार्च में आतंकी फजलुल्ला का पता बताने में मदद करने वाले को 50 लाख डॉलर यानी 34 करोड़ रुपये का इनाम घोषित किया था। फजलुल्लाह पाकिस्तान में कई खूनी हमले और वर्ष 2010 में न्यूयॉर्क में टाइम्स स्क्वायर कार बम विस्फोट की कोशिश में शामिल था।

पाकिस्तानी अधिकारियों के मुताबिक कई आक्रामक अभियान के बाद तहरीक- ए-तालिबान को पाकिस्तान से खदेड़ दिया गया था, जिसके बाद फजलुल्लाह ने अफगानिस्तान में शरण ले ली थी। तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान सरगना हकीमुल्ला महसूद के मारे जाने के बाद साल 2013 में फजलुल्ला को आतंकी संगठन का सरगना बनाया गया था।  हकीमुल्ला को भी अमेरिका ने ड्रोन हमले में मार गिराया था।