मेलबर्न: आस्ट्रेलियन क्रिकेटर्स एसोसिएशन (एसीए) ने एक बार फिर स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बैनक्रॉफ्ट के ऊपर लगे प्रतिबंध को हटाने की बात को दोहराया है। एसीए ने हाल ही में गेंद से छेड़खानी मामले की रिपोर्ट में टीम की जीतने की संस्कृति को इसके पीछे की वजह बताते हुए कहा है कि इन तीनों खिलाड़ियों पर लगे प्रतिबंध को हटा देना चाहिए।

यह भी पढ़ें …..क्रिकेट आस्ट्रेलिया सेलरी विवाद पर वोक्स का तंज- हमें अच्छा वेतन मिल रहा

दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन में इसी साल हुए टेस्ट मैच में इन तीनों खिलाड़ियों को गेंद से छेड़खानी के कारण प्रतिबंध लगा दिया गया था। वार्नर और स्मिथ पर एक-एक साल का प्रतिबंध लगा था तो वहीं बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगा था।

इस विवाद को लेकर क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने जांच के लिए एक समिति का गठन किया था जिसने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि टीम में हर हाल में जीत की संस्कृति के कारण खिलाड़ियों ने यह कदम उठाया।

एसीए के अध्यक्ष ग्रेग डायेर ने कहा, “समिति की समीक्षा में पता चल चुका है कि जो कुछ भी दक्षिण अफ्रीका में हुआ उसके लिए क्रिकेट आस्ट्रेलिया को भी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। हां यहां गलती व्यक्तिगत है लेकिन अब सबूत हैं और साथ ही सिस्टम के विफल होने का भी पता एक स्वतंत्र जांच से चल गया है। यह काफी अहम है।”

यह भी पढ़ें …..खुलासाः 1 साल ,15 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच और 26 स्पॉट फिक्सिंग

उन्होंने कहा, “इस जानकारी से, व्यवहारिक बुद्धि, शालीनता, आधारभूत पारदर्शिता और नैसर्गिक न्याय के आधार पर सजा को कम कर देना चाहिए। खिलाड़ियों ने पहले से ही अपना समय खेल में गंवा दिया है। उन्होंने जनता के सामने शर्मिदगी झेली है और साथ ही बड़ी वित्तीय मुसीबत का सामना किया है।”

यह भी पढ़ें …..फटाफट क्रिकेट के दौर में 10 हजारी बने कोहली, रनों का पीछा करने में महारत

उन्होंने कहा, “क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) को मेरा साफ संदेश है। इन तीनों खिलाड़ियों को काफी सजा मिल चुकी है इसलिए इन्हें खेलने की अनुमति दी जानी चाहिए। मैं कहना चाहता हूं कि एसीए इनके ऊपर लगे प्रतिबंध को खत्म करने को लेकर मुखर है।”

–आईएएनएस