सहारनपुर: प्रकृति का कहर, बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसल तबाह

सहारनपुर: सहारनपुर में बुधवार की सुबह किसानों के लिए आफत लेकर आयी। सुबह सात बजे आकाश में घिरे काले बादल से पूरी तरह से अंधेरा छा गया। सूरज निकलने के समय पर अचानक काला अंधेरा छाने से लोग भी हैरान में रह गए। इसके बाद हुई झमाझम बारिश और ओलावृष्टि से किसानों की खेतों में खड़ी धान और गन्ने की फसल पूरी तरह से तबाह हो गई।

अक्टूबर माह के दूसरे सप्ताह में अमूमन कम ही बारिश होती है। लेकिन आज सुबह छह बजे जैसे लोगों की नींद खुली तो सूरज देव के दर्शन करने के बजाय उनकी आंखों के सामने अंधेरा छा गया। देखते ही देखते पूरे जनपद को काली घटाओं ने अपनी चपेट में ले लिया और तेज हवा के साथ झमाझम बारिश शुरू हो गई।

बारिश के साथ ही तेज ओलावृष्टि भी प्रारंभ हो गई। उधर, पर्वतीय क्षेत्र उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में हो रही बारिश का असर भी सहारनपुर में साफ नजर आ रहा है। यहां पर बरसाती नदियां एक बार फिर से उफान पर आ गई है। बरसाती नदियों के उफान पर आने से इनके किनारे बसे ग्रामीण और शहरी क्षेत्र की कालोनियों की बाशिंदों की दिल की धड़कन तेज हो गई।

सुबह सात बजे शुरु हुई झमाझम बारिश अभी जारी है। शहर की गलियों और कालोनियों में एक एक फीट तक पानी भरा हुआ है। शहर की सड़कों पर पानी भरने से यातायात पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है और लोग घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। उधर, बारिश से ठंड भी बढ़ गई है। पहले जहां रात को बारह बजे के बाद सर्द हवाओं का अहसास होता था, वहीं आज सुबह से हो रही बारिश ने लोगों को घरों में दुबकने के लिए मजबूर कर दिया है।

ये भी पढ़ें…मथुरा: किसान योगी के आगमन को लेकर परेशान, फसल हो रही बर्बाद