सबरीमाला मंदिर केस: महिलाओं के प्रवेश पर अब सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ करेगी फैसला

0
69
सबरीमाला मंदिर केस: महिलाओं के प्रवेश पर अब सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ करेगी फैसला
सबरीमाला मंदिर केस: महिलाओं के प्रवेश पर अब सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ करेगी फैसला

नई दिल्ली: केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर लगी रोक के मामले में आज सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केस संवैधानिक बेंच को सौंप दिया है।केरल के सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल की उम्र की महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध का मामला पांच जजों की संविधान पीठ को भेजा गया।

यह भी पढ़ें… सुप्रीम कोर्ट: 18 साल से कम उम्र की पत्‍नी के साथ शारीरिक संबंध यानि ‘रेप’

अभी तक सुनवाई कर रही तीन जजों की बेंच ने संविधान पीठ को मामला भेजा है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट 13 अक्टूबर शुक्रवार को तय करना था कि केरल के सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल की उम्र की महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध से संबंधित मामले को संवैधानिक पीठ के समक्ष भेजा जाए या नहीं।

यह भी पढ़ें…सहारा को बड़ा झटका: SC ने कहा- 48 घंटों के भीतर हो एंबी वैली की नीलामी

सबरीमाला मंदिर केस: महिलाओं के प्रवेश पर अब सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ करेगी फैसला
सबरीमाला मंदिर केस: महिलाओं के प्रवेश पर अब सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ करेगी फैसला

इसके पहले सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल 20 फ़रवरी को इस पर फैसला सुरक्षित रख लिया था। जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली 3 जजों की पीठ ने एमिकस क्यूरी सहित संबंधित पक्षों से संवैधानिक पीठ से पूछे जाने वाले सवालों की सूची तैयार करने को कहा था।

यह भी पढ़ें…जनहित में धार्मिक स्थल की जमीन का भी अधिग्रहण कर सकती है सरकार-High Court

कोर्ट ने कहा कि संविधान पीठ ये तय करेगी कि क्या महिला के बॉयोलाजिकल फैक्टर,धार्मिक स्वतंत्रता, समानता जैसे मौलिक अधिकरों से महिलाओं को रोका जा सकता है? पिछले 1500 वर्षों से इस मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर रोक है, जिसे लेकर गैर-बराबरी के खिलाफ राज्य में आंदोलन चल रहा है। केरल सरकार ने पिछले साल 7 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट को जानकारी दी थी कि वह सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के समर्थन में है।