बहराइच : भाजपा के पूर्व सांसद व संत वेदांती ने राममंदिर निर्माण के सम्बंध में बड़ा बयान दिया है । उन्होंने कहा कि अयोध्या में भगवान राम के मंदिर का निर्माण छह दिसबंर से पहले शुरू हो जायेगा । मंदिर का निर्माण मोदी व योगी की देखरेख में होगा । उन्होंने कहा कि अदालत से जल्द फैसला होने की उम्मीद नही है। वहां लाखो वर्ष लग सकते हैं । मस्जिद लखनऊ या कही और बन सकती है । लेकिन बाबर व आतंकी के नाम पर मस्जिद नही बन सकती और न ही बननी चाहिये । उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि मंदिर निर्माण दोनों वर्गों की सहमति से होगा और इसमें किसी प्रकार का विवाद नही होना चाहिये ।
रामविलास वेदांती ने कहा कि आज केंद्र समेत बीस से अधिक राज्यों में भाजपा की सरकार है । और मंदिर सिर्फ भाजपा व मोदी ही बना सकते हैं । सपा ,बसपा, कांग्रेस नही ये लोग कभी मंदिर के पक्ष में नही रहे । हिन्दू मुस्लिम मिलकर आपसी सहमति से जल्द ही मंदिर का निर्माण होगा और मुस्लिमों के लिये लखनऊ या और किसी अन्य जगह पर मस्जिद का निर्माण कराया जा सकता है । लेकिन वो मस्जिद न तो बाबर के नाम पर नही होनी और न ही आतंकी के नाम पर ।
 वेदांती निजी कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिये जिले में आये थे । जहां पर प्रदेश की बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल के आवास पर पत्रकारों से वार्ता के दौरान उन्होंने राममंदिर समेत कई अन्य मुद्दों पर अपनी राय रक्खी ।