अमेठी:  संतों संग हिंदू संगठन और सरकार में बैठे नेता अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर संघर्षशील हैं। हाल ही में मोदी सरकार के मंत्री राजेश सिन्हा नें सदन लाकर मंदिर निर्माण की बात कही थी। लेकिन योगी सरकार के इकलौते मुस्लिम मंत्री नें यहां अमेठी में कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है इसलिए इन्तेज़ार करना चाहिए।

ये भी देखें: सपा का दावा अखिलेश की बदौलत राजधानी में होगा क्रिकेट मैच

हम सबके आदर्श हैं श्री राम

रविवार को अमेठी के गौरीगंज के नवोदय विद्यालय में आयुष्मान योजना के तहत कार्यक्रम आयोजित था। बतौर मुख्य अतिथि यहां पहुंचे योगी सरकार के मंत्री मोहसिन रज़ा मीडिया से रूबरू हुए। रज़ा नें कहा कि सबसे बड़ी चीज़ ये है कि श्री राम हम सबके आदर्श हैं, और हम सबकी और पूरे देश की जनता की आस्था है वो भी यही चाहती है। उन्होंने कहा कि चूंकि मामला न्याय संगत है और माननीय सर्वोच्च न्यायालय में है। सर्वोच्च अदालत नें एक डेट दी गई है, हमें इन्तेज़ार करना चाहिए। इस उम्मीद के साथ जल्द ही एक अच्छा फैसला सुनने को मिलेगा, उसके बाद हम लोग अपनें काम में आगे बढ़ेगा।

ये भी देखें: झारखंड : नमामि गंगा मिशन के बाद अब गंगा ग्राम की धूम

केंद्रीय मंत्री राकेश सिन्हा का किया समर्थन

यही नहीं सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इन्तेज़ार करने की बात करने वाले मंत्री नें केंद्रीय मंत्री राकेश सिन्हा का समर्थन किया। रज़ा नें कहा कि मुझे लगता है कि कोई भी सदन में बिल लाता है उसको अधिकार है। सदन का पटल होता ही इसलिए है अगर कोई इस तरह का बिल लाता है सदस्य उसे लाना चाहिए और दूसरी पार्टियों को जवाब भी देना चाहिए।