पांच साल बाद भी रनों के शिखर पर कायम हैं मास्टर-ब्लास्टर

नई दिल्ली: क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने पांच साल पहले 2013 में टेस्ट क्रिकेट को अलविदा जरूर कह दिया था लेकिन इन पांच साल के बाद भी टेस्ट में उनके द्वारा बनाए गए रनों के पहाड़ के आसपास भी अब तक कोई बल्लेबाज नहीं पहुंच पाया है।

यह भी पढ़ें: पहले टेस्ट में 5 बल्लेबाज ही जमा पाए हैं दोहरा शतक

वर्ष 1989 में चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ कराची में टेस्ट में पदार्पण करने वाले सचिन ने 2013 में संन्यास लेने से पहले 200 टेस्ट मैचों की 329 पारियों में 15921 रन बनाए। इसमें उनके नाम 51 शतक और 68 अर्धशतक दर्ज हैं।

टेस्ट में नाबाद 248 रन का सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाने वाले सचिन ने 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ मुंबई में खेले गए मैच के बाद टेस्ट से संन्यास ले लिया था।

मौजूदा समय में इंग्लैंड के एलिस्टर कुक ही ऐसे बल्लेबाज हैं जो सचिन के रिकॉर्ड की ओर बढ़ रहे हैं। वर्ष 2006 में नागपुर में भारत के खिलाफ टेस्ट में पदार्पण करने वाले कुक ने अब तक 156 मैचों की 282 पारियों में 12145 रन बनाए हैं। इसमें 32 शतक और 56 अर्धशतक शामिल हैं।

हालांकि 33 साल के कुक अभी भी सचिन के रिकॉर्ड को तोड़ने से 3,776 रन पीछे हैं और हो सकता है वह इससे पहले ही संन्यास ले लें। अगर कुक सचिन के रिकॉर्ड को तोड़ने से पहले ही संन्यास ले लेते हैं तो फिर सचिन का सर्वाधिक रनों का रिकॉर्ड काफी समय तक कायम रह सकता है।

टेस्ट में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में सचिन के बाद आस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (168 मैचों में 13378) दूसरे, दक्षिण अफ्रीका के जैक कैलिस (166 मैचों में 13289) तीसरे, भारत के राहुल द्रविड़ (164 मैचों में 13288) चौथे और श्रीलंका के विकेटकीपर बल्लेबाज कुमार संगकारा (134 मैचों में 12400) पांचवें नंबर पर हैं।

–आईएएनएस