रूहानी ने अमेरिका को समझाया- शेर की पूंछ से मत खेलिए

0
409

तेहरान : ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने रविवार को अमेरिका को चेताया कि वह उनके देश के खिलाफ विवाद खड़ा करने से बाज आए। रूहानी ने कहा कि उनका देश अमेरिका के साथ दुश्मनी नहीं चाहता, लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि उनका देश किसी लड़ाई से हिचकेगा भी नहीं।

ये भी देखें : ये जो हसन रूहानी आए हैं, इनके मित्र ने लड़कियां को हाफ पैंट से बुर्के में कैद कर दिया

रूहानी ने ईरानी राजनयिकों के एक समारोह में कहा, “ईरान के दुश्मनों को यह अच्छी तरह समझ लेना चाहिए कि ईरान के साथ युद्ध सभी युद्धों से बड़ा है, और ईरान के साथ शांति सभी शांति से बड़ी है।”

ईरानी राष्ट्रपति कार्यालय की वेबसाइट के अनुसार, ईरानी राष्ट्रपति ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चेताया, “शेर की पूंछ से मत खेलिए, आपको पछताना पड़ेगा। धमकी का जवाब धमकी से देंगे।”

ये भी देखें : रूहानी प्रदर्शनकारियों से ‘सहानुभूति जताने पर’ ट्रंप से बेहद नाराज

उल्लेखनीय है कि ट्रंप ने ईरान के साथ 2015 के बहुपक्षीय परमाणु समझौते से अमेरिका को अलग कर लिया और तेहरान पर नए सिरे से प्रतिबंध लगा दिए, जो अगस्त से प्रभावी हो जाएगा।

ईरान और छह अन्य देशों (अमेरिका, रूस, चीन, ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी) द्वारा हस्ताक्षरित 2015 का परमाणु समझौता तेहरान के परमाणु कार्यक्रम को सीमित करता है, और इसके बदले ईरान पर लागू अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंधों को समाप्त करने की अनुमति देता है। लेकिन ट्रंप के रवैए से अब इस समझौते का भविष्य अधर में लटक गया है।

Facebook Comments
Previous articleराहुल गांधी ने सही तरीके से थरूर को समझा दिया है, बड़ी लड़ाई लड़ रहा हूं
Next articleअमित शाह- सरकार है तो सब है, नहीं तो हवलदार भी ‘सैल्यूट’ नहीं करता
आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं।यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।