बरेली: थाना नवाबगंज के क्षेत्र में एक दरोगा के बेटे ने एक दलित महिला से दुष्कर्म की कोशिश की जब वह अपने मंसूबे में सफल नहीं  हुआ तो बीच बचाब के लिए पहुंची दो महिलाओं पर तेजाब  डालकर झुलसा दिया। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
जानकारी के मुताबिक नवाबगंज क्षेत्र के गांव में बीते दिन शुक्रवार को एक महिला अपने बच्चों के साथ जंगल मे लकड़ी बीनने गई थी । दोपहर चार बजे के पास जब महिला को प्यास लगी तो दलित महिला दीपक के कोल्हू पर पानी पीने चली गई। उसी समय कोल्हू के मालिक दीपक ने महिला को बुरी नीयत से महिला को पकड़ लिया और कपड़े फाड़कर दुष्कर्म की कोशिश की।
महिला के शोर मचाने पर महिला के दोनों बच्चे भी मौके पर पहुंच गए । दीपक ने मौके पर पहुंचे बच्चों को किसी धारधार हथियार से घायल कर दिया। इसी दौरान शोर शराबे की आवाज़ सुनकर दो महिलाएं पहुंच गई दीपक ने उन्हें भी नहीं बख्शा और तेज़ाब से हमलाकर झुलसा दिया। दीपक के हमले में दोनों महिलाएं बुरी तरह से झुलस गई।
 आरोपी दीपक का कहना है कि वह घटना के समय मौके पर नहीं  था और तेज़ाब कोल्हू वाली जगह की दीवार पर रखा था उसने किसी पर तेजाब का हमला नहीं किया है। महिलाओं ने कोल्हू के पास लकड़ी उठाने की कोशिश की होगी और तेजाब उनके ऊपर गिर गया होगा।महिलाओं का रेप की कोशिश का आरोप भी झूठा है।
जबकि महिलाओं का आरोप है दीपक ने उनके साथ दुष्कर्म की कोशिश करने के साथ मारपीट की और कपड़े भी फाड़ दिए।
एसपी ग्रामीण सतीश कुमार ने बताया कि दीपक अपना कोल्हू मकरंदपुर में चलता है उसका विवाद गांव की  तीन महिलाओं से विवाद चल रहा था उसी विवाद में विकास ने महिलाओं पर एसिड अटैक किया था। पुलिस ने सूचना के आधार पर आरोपी विकास को गिरफ्तार कर लिया है आरोपी को जेल भेजा जा रहा है।