लखनऊ: ‘एक जनपद एक उत्पाद’ समिट के मंच पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को लेकर एक बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी से लोगों को काफी उम्मीदे थीं, जिसके बाद हमने पॉलिसी बनाकर काम करना शुरू किया। उन्होंने कहा कि राज्य में असीम संभावाएं हैं।

यह भी पढ़ें: ODOP: राज्यपाल ने राष्ट्रपति को दी ‘एक जनपद एक उत्पाद’ की पहली कॉपी

सीएम योगी ने ये भी कहा कि हमे प्रदेश में कानून व्यवस्था ठीक करनी है। हम लोग कई मोर्चों पर लड़ रहे थे। सीएम ने आगे कहा कि यूपी में स्थापना दिवस नहीं मनाया जाता था। हमने 24 जनवरी 2018 को स्थापना दिवस मनाया। वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट की योजना शूरी कर दी थी।

सीएम योगी ने सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्योग की बात करते हुए कहा कि सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्योग की यूपी में ज्यादा संभावनाएं हैं। कम बजट में अच्छा काम हो सकता है। हर जिले में काम शुरू हो गया है। पहले सरकार की तरफ से कोई प्रोत्साहन नहीं दिया जाता था। वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट ने हर जिले में काम दिखाया है।

सीएम योगी ने ये भी कहा कि आबादी के हिसाब से देश का बड़ा राज्य यूपी है। 22 करोड़ की आबादी को स्वावलंबन की तरफ अग्रसर करना चुनौती थी। मार्च 2017 में काम शुरू किया तो जनता को बहुत अपेक्षाएं थी। कम समय मे बेहतर परिणाम लाना है। युवाओं के पलायन को रोकने के लिए जरूरी कदम भी उठाए हैं। प्रकृति और परमात्मा की असीम कृपा यूपी पर है।

देश की संस्कृति की पहचान यूपी में है। अलग अलग मंचो पर अलग-अलग मोर्चों पर एकसाथ काम करना था। हर क्षेत्र में प्रदेश ने बेहतर करने का प्रयास किया।

रोजगार के लिए लघु उद्यम में व्यापक संभावनाएं हैं। हर गांव मे कुछ न कुछ काम शुरू हुआ। इसके बाद विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना शुरू करेंगे। इसके माध्यम से गांव में बैठे आदमी को भी सम्मान देंगे। एक साथ एक दिन में 4095 परिवारों को स्वावलंबन की तरफ अग्रसर काटने का प्रयास कर रहे हैं। हर साल 5 लाख यानी 5 साल में 25 लाख नौजवान ओडीओपी के माध्यम से रोजगार पाएंगे, इससे पलायन रुकेगा।