लखनऊ। चुनाव लड़ना जहां आजकल आम आदमी के लिए नामुमकिन सा हो गया है जबकि छोटे-छोटे चुनाव में भी लखपति और करोड़पति उतर जा रहे हैं ऐसे में छत्तीसगढ़ विधानसभा के चुनाव में तीन प्रत्याशी ऐसे हैं जो आम आदमी का प्रतिनिधित्व करते हुए इस चुनाव में किस्मत आजमा रहे हैं। हालांकि चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित खर्च सीमा 28 लाख रुपये है।

इन्हें भी पढ़ें-छत्तीसगढ़: BJP प्रत्याशी के खिलाफ 7.5 करोड़ रुपये की सामग्री बांटने की शिकायत

एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार छत्तीसगढ़ में पहले चरण के चुनाव में जहां सबसे धनी प्रत्याशी की संपत्ति लगभग सवा सौ करोड़ है वहां सबसे गरीब आदमी जो राजगांव जिले की राजगांव सीट से चुनाव लड़ रही हैं उनका नाम प्रतिमा वासनिक है। वह रिपब्लिकन पक्ष खोरिपा से प्रत्याशी हैं उनकी चल संपत्ति 12 सौ रुपए है जबकि अचल संपत्ति शून्य है। इस तरह उनकी कुल संपत्ति बारह सौ रुपये ही है। बावजूद इसके उनके पास पैन कार्ड भी है। इसके अलावा कांग्रेस से भी राजगांव की खैरगढ़ सीट से लड़ रहे महेश लोधी की भी चल संपत्ति ढाई हजार रुपए हैं और अचल संपत्ति शून्य है। उनकी भी कुल संपत्ति यही 25 सौ रुपए है। तीसरे प्रत्याशी भी कांग्रेस के धरमुरम कश्यप हैं जो चित्रकूट सुरक्षित सीट से किस्मत आजमा रहे हैं। यह बस्तर के जगदलपुर से हैं इनकी चल संपत्ति पांच हजार रुपए है और कुल संपत्ति शून्य है।

इन्हें भी पढ़ें-छत्तीसगढ़ विस चुनाव के पहले चरण में 22 फीसद करोड़पति व 12 फीसद अपराधी

चुनाव के नतीजे चाहे जो आएं लेकिन इस चुनाव में इन तीन प्रत्याशियों के आ जाने से कहीं न कहीं से यह चुनाव आम आदमी द्वारा आम आदमी के लिए लड़ा जा रहा है।