इस अद्भुत इराकी नवजात पर इंडियन डॉक्टर्स का ‘करम’, कुछ ऐसे दी नई जिंदगी

0
33
इस अदभुत इराकी नवजात पर इंडियन डॉक्टर्स का 'करम', कुछ ऐसे दी नई जिंदगी
1 of 2


नोएडा: सात महीने का एक नवजात इराकी बच्चा जिसके अद्भुत रूप से शरीर में अतरिक्त दो हाथ और दो पैर थे। रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी द्वारा बच्चे को उसके सामान्य रूप में लाया गया। यह कारनामा सेक्टर-128 स्थित जेपी हॉस्पिटल के आॅर्थोपेडिक्स विभाग, प्लास्टिक-एस्थेटिक और रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी विभाग द्वारा किया गया। बच्चे का नाम करम है।

अंगों के साथ कई अन्य बीमारी से ग्रसित था ‘करम’
इस बीमारी के साथ ही करम के ह्रदय, आंत और अंडकोष सहित अन्य अंगों में भी बीमारियां थीं। चार विभागों के संयुक्त प्रयास से बेहद जटिल ऑपरेशन सफल हुआ और करम के शरीर से अतिरिक्त अंगों को हटाकर उसे नई जिदगी दी गई। खास बात यह है कि बच्चे को बीमारी से मुक्त करने के लिए छह महीने में तीन विभागों की टीम द्वारा अलग-अलग तीन सर्जरी की गई।

इसका श्रेय बाल ह्रदय रोग विभाग के निदेशक डॉ. राजेश शर्मा, आॅर्थोपेडिक्स विभाग के डॉ. गौरव राठौर, बाल शल्य विभाग के डॉ. अभिषेक और प्लास्टिक-एस्थेटिक एवं रिकंस्ट्रक्शन विभाग के डॉ. आशीष राय, डॉ. सौरभ गुप्ता एवं उनकी टीम को मिला।

यह भी पढ़ें … बड़ी आंखों के साथ पैदा हुए इस बच्चे को देखने उमड़ी भीड़, लोग मान रहे अवतार

पोलीमेलिया से ग्रसित था बच्चा
डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे को ‘पोलीमेलिया’ नाम की बिमारी है। विश्व के चिकित्सीय इतिहास में इस तरह के केवल पांच-छह मामले देखे गए हैं। अब तक ऐसे जितने भी मामले सामने आए हैं उन सभी में करम की बीमारी अत्यधिक जटिल थी। उसके शरीर में जन्म से ही पेट और पैरों से हाथ-पैर जैसे अतिरिक्त चार अंग निकले हुए थे, जिसमें दो हाथ और एक पैर सामान्य बालक जैसे थे।

करम के एक पैर का आकार सामान्य से छोटा, जबकि दूसरे पैर में दो पैर जुड़े हुए थे। दो अंग ऐसे थे जो पेट से निकले हुए थे। पेट से निकलने वाला एक अंग पैर की तरह तो दूसरा अंग हाथ की तरह था। बच्चे का एक पैर जो सामान्य था उसमें भी थोड़ा टेढ़ापन था।

अगली स्लाइड में पढ़ें खबर …

1 of 2

Sponsored
Loading...