इस देश में पिता को मिलता है पितृत्व अवकाश, प्रेग्नेंट लेडी का होता मुफ्त चेकअप

0
375362

जयपुर: फिनलैंड एक ऐसा देश है, जहां मां से ज्यादा पिता अपने बच्चों के साथ रहते हैं और उनका ख्याल रखते हैं। ओईसीडी रिपोर्ट के अनुसार, द ग्लोबल जेंडर गेप रिपोर्ट ने साल 2016 में फिनलैंड को लैंगिक समानता की लिस्ट में दूसरे नंबर पर रखा था। वहीं इकोनॉमिस्ट ने हाल ही में इसे कामकाजी मां के लिए तीसरा सबसे अच्छा देश करार दिया था।  विशेषज्ञों का मानना है कि राजनीतिक मंशा, सामाजिक लोकतंत्र की मजबूत परंपरा और अन्य कई ऐसे पहलू हैं, जिनसे यह संभव हुआ है। फिनलैंड के लोगों का मानना है कि बच्चे के विकास में पिता अहम भूमिका निभाता है। इसको ध्यान में रखते हुए वहां पिता को नौ सप्ताह की पितृत्व अवकाश देने का प्रावधान है।

यह भी पढ़ें…OMG: थाईलैंड में बहुविवाह पर है बैन, फिर भी इस शख्स ने रचाईं 120 शादियां
इसके दौरान उनकी 70 फीसदी सैलरी उन्हें दी जाती है। इसके साथ ही इस स्कीम के लिए जागरूक करने के लिए हाल ही में एक कैम्पेन भी शुरू किया गया है। इस देश में महिलाओं के अधिकारों का विशेष तौर पर ध्यान रखा जाता है। यह विश्व का दूसरा ऐसा देश था, जिसने सबसे पहले महिलाओं को वोट डालने का अधिकार दिया था। इसके साथ ही साल 1906 में महिलाओं को राजनीतिक अधिकार देकर यह ऐसा करने वाला विश्व का पहला देश बन गया था। मौजूदा समय में यहां 42 फीसदी महिला सांसद हैं। वहीं अमेरिका की बात करें तो वहां की कांग्रेस में 19.6 फीसदी महिलाए हैं।

य़ह भी पढ़ें…OMG: मिलिए 7 साल के इस बच्चे से जो करता है हवा में बातें, उड़ाता आसमान में प्लेन

इसके साथ ही इस देश में एक और बात गौर करने वाली है। यहां पर अगर किसी को बच्चा पैदा होता है तो उसे मेडिकल बिल की चिंता करने की जरूरत नहीं होती। प्रेग्नेंट महिला के मेडिकल चेकअप मुफ्त में होते हैं और बेबी के जन्म का चार्ज भी बहुत कम है। वहीं दूसरे देशों में देखा जाए तो यह चार्ज बहुत ज्यादा है। यहां की सरकार पिछले 80 वर्षों से बेबी के जन्म पर पेरेंट्स को ‘बेबी बॉक्स’ देती है। इसमें बच्चे से संबंधित चीजें होती हैं।

loading...