अफजाल अंसारी ने राहुल-अखिलेश का उड़ाया मजाक, कहा- एक लल्लू है तो दूसरा पप्पू

राहुल-अखिलेश पर अफजाल अंसारी का हमला, कहा- एक लल्लू है तो दूसरा पप्पू

गोरखपुर: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) में शामिल होने के बाद पूर्व सांसद अफजाल अंसारी गुरुवार (16 फ़रवरी) को गोरखपुर पहुंचे। यहां उन्होंने एक प्रेस कांफ्रेंस किया। पत्रकार वार्ता में अफजाल ने कहा, कि ‘पहले दो चरणों में हुए मतदान के आधार पर हम कह सकते हैं कि बसपा यहां 80 से 85 सीटें जीतेगी।’

अफजाल ने कहा, ‘जाट समाज के वोट पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) आश्रित थी। अब जाट समाज उनसे नाराज है। वह हमसे जुड़ चुका है। लोकसभा चुनाव के समय जनता ने जो फैसला दिया था और जो देखने को मिला, उसके हिसाब से लगता है कि जाट समाज के सिर्फ पांच फीसदी अजीत सिंह के पक्ष में खड़े हैं। शेष बड़ा हिस्सा बसपा के हिस्से में है।’

अखिलेश कलयुग के श्रीराम
अफजाल अंसारी के अगले निशाने पर समाजवादी पार्टी (सपा) थी। उन्होंने कहा, ‘प्रदेश में सपा का जनाधार खिसका है। चुनाव के परिणाम इनके होश उड़ा देंगे। अखिलेश यादव खुद को सबसे बड़ा राम भक्त कहते हैं। राम को ही अपना आदर्श मानते हैं किंतु रामायण के अनुसार मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने अपने पिता के एक आदेश पर 14 वर्ष के वनवास को जाना उचित समझा। लेकिन अखिलेश कलयुग के राम हैं। इन्होंने अपने पिता मुलायम सिंह को ही वनवास भेज दिया। अखिलेश यादव ने औरंगजेब के इतिहास को दोहराया है।’

एक लल्लू तो एक पप्पू
सपा और कांग्रेस के गठबंधन पर अफजाल अंसारी ने कहा, ‘एक लल्लू है तो दूसरा पप्पू।’ अफजाल ने पत्रकारों से पूछा, ‘क्या आप राहुल गांधी को एक गंभीर नेता मानते हैं। आप सब कुछ सही-सही समझते हैं कि ‘एक लल्लू है और एक पप्पू।’

मुलायम को बताया अवसरवादी
मुलायम सिंह पर निशाना साधते हुए अफजाल अंसारी ने उन्हें अवसरवादी करार दिया। उन्होंने कहा, कि ‘मौका पड़ने पर यह कल्याण सिंह जैसे लोगों को साथ ले लेते हैं और साक्षी महाराज जैसे लोगों को राज्यसभा भेजने का काम करते हैं।’


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App