0
114

रांची: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू यादव चारा घोटाले के एक मामले में राजधानी के बिरसा मुंडा जेल में सजा काट रहे हैं। इसलिए इस बार मकर संक्रांति को लेकर जेल में ही रौनक रही। बता दें, कि लालू प्रसाद की पटना आवास पर मकर संक्रांति के मौके पर चूड़ा-दही के लिए विशेष आयोजन होता रहा है। लालू द्वारा कराया जाने वाला यह आयोजन काफी प्रसिद्ध रहता था।

लेकिन इस बार बारी थी लालू समर्थकों की। लालू के समर्थक रविवार (14 जनवरी) को चूड़ा-दही लेकर अपने प्रिय नेता से मिलने जेल पहुंच गए। वो चूड़ा, दही, गुड़, तिलकुट लेकर अंदर जाने देने की अनुमति मांगने लगे। हालांकि, जेल अधिकारियों ने किसी को भी अंदर नहीं जाने दिया, लेकिन उनके समर्थक लगातार मिन्नतें करते रहे।

कुछ को समझाया, फिर और आ गए
इतना ही नहीं, जेल अधिकारी जब तक लालू के कुछ समर्थकों को मनाते हैं नए समर्थक चूड़ा-दही लेकर पहुंच जाते हैं। लालू के कई समर्थक तो उनके लिए सब्जी भी लेकर आए। मकर संक्रांति के मौके पर इस बार बिरसा मुंडा जेल में कैदियों के लिए खास इंतजाम किया गया है। कैदियों को जेल में ही दही-चूड़ा और तिलकुट दिया गया। शाम को कैदियों को खाने में खिचड़ी दी जाएगी।

इन वजहों से पटना में नहीं मनाया गया त्योहार
बता दें, कि इस बार पटना में लालू यादव के आवास पर मकर संक्रांति नहीं मनाई जा रही है। इसकी एक वजह लालू यादव का जेल में होना है तो दूसरी, लालू की बहन गंगोत्री देवी का निधन।

Facebook Comments
Previous articleदुनिया में सबसे ज्यादा बिकते हैं 5 कंपनियों के स्मार्टफोन, 3 चाइना से
Next articleलालू की सजा कैदियों का मजा, दही-चूड़ा लेकर रांची जेल पहुंचे समर्थक
अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।