डाइट हो राइट : बच्चों को दें पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन ताकि रहें स्वस्थ

0
210
डाइट हो राइट : बच्चों को दें पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन ताकि रहें स्वस्थ

लखनऊ: हाल ही में आयी एक रिपोर्ट के मुताबिक बच्चों में डायबिटीज और मोटापे जैसी बीमारियों का जोखिम लगातार बढ़ता जा रहा है और ऐसा गलत खान-पान की आदतों की वजह से हो रहा है।विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें तो बच्चों में शारीरिक गतिविधियां न होना भी उन्हें मोटापे सहित कई घातक बीमारियों का शिकार बना देता है। आइये जानते हैं उन टिप्स के बारे में जिनसे आपका बच्चा स्लिम-फिट रहने के साथ-साथ स्वस्थ भी हो।

सही डाइट
बच्चों के खानपान के संबंध में शुरू से ही सतर्क रहने की जरूरत होती है। कहते हैं एक बार बच्चों को जो खाने की आदत लग जाती हैं उन्हें वही चीज पसंद आने लगती है। इसलिए बच्चे में डाइट की सही आदत पड़ जाए, इसके लिए पेरेंटिंग में भी कुछ बदलाव करने की जरूरत होती है। पेरेन्ट्स को कुछ खास बातों पर ध्यान देना चाहिए। मसलन घर में तली भुनी चीजों, पैक्ड ड्रिंक्स और फास्ट फूड न रखें। कहीं बाहर घूमने जाएं तो कुछ न कुछ होम मेड जरूर लेकर जाए, इससे बच्चे पर एक अलग तरह का असर होगा।

यह भी पढ़ें…हर हेल्थ समस्या से लड़ने में है कारगर, अलसी में बहुत है फाइबर

समय पर दें खाना
बच्चों में ऐसी आदत डालें कि वह समय पर नाश्ता, लंच या डिनर करें। इससे न सिर्फ वह अनुशासन का महत्व समझेगा बल्कि वक्त पर खाना खाने से वह स्वस्थ भी रहेगा। इस दौरान आप उसके जगह भी एक जगह फिक्स परिवार के सभी सदस्यों में प्यार भी बढ़ता है और बच्चा भी टेबल मैनर्स आसानी से सीखने लग जाता है।

जंक फूड और कोल्ड ड्रिंक्स से दूरी
पैकेज्ड फूड में शुगर और फ्रुक्टोज की मात्रा सबसे ज्यादा होती है। अत: इससे कई तरह की बीमारियाँ जैसे आटिज्म, उलटी होना, चक्कर आना, डिप्रेशन की सम्भावना बढ़ जाती है। इनमें न्यूट्रीशनल वैल्यू उतने नहीं होते जितने बताये जाते हैं।
डॉक्टर्स की मानें तो पैक्ड फूड पूरी तरह से डिहाइड्रेटेड होते हैं और इनमें पौष्टिकता न के बराबर होती है। डिब्बा बंद फ्रूट जूस/ सॉफ्ट ड्रिंक, आइसक्रीम देने की बजाय ताजा फलों का रस, नारियल पानी,लस्सी को प्रमुखता दें। इस तरह जब आपकी यह आदत बनेगी धीरे-धीरे बच्चा भी इसे अपना लेगा।