हर हेल्थ समस्या से लड़ने में है कारगर, अलसी में बहुत है फाइबर

0
228

जयपुर:अलसी को अंग्रेज़ी में फ़्लैक्सीड्स कहते हैं। सुपरफ़ूड्स की कैटेगरी में शामिल यह बीज त्वचा से लेकर पाचन तक के लिए फायदेमंद है। अलसी में बड़ी मात्रा में फ़ाइबर होता है और बहुत कम मात्रा में कार्ब्स। जो हमारे पाचन को सुलभ बनाते हैं। इसका नियमित सेवन कब्ज़ और पाचन से जुड़ी अन्य समस्याओं से निजात दिलाता है। इसमें म्यूसलिज भी होते हैं, जो हमारे इन्टेस्टिनल ट्रैक्ट के लिए लाभकारी होते हैं। अलसी में घुलनशील और अघुलनशील फ़ाइबर होते हैं, जो पाचन प्रक्रिया को सुचारू ढंग से चलाकर वज़न घटाने में मदद करते हैं

कैसे खाएं
*किसी भी स्मूदी या सलाद में 1 से 2 टेबलस्पून अलसी मिलाएं। अलसी में विटामिन बी और अच्छा फ़ैट होता है, जो त्वचा की कई समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। यह एक्ज़िमा, ड्राइ स्किन, जैसी त्वचा संबंधी समस्याओं को ठीक करने की क्षमता रखता है। प्रतिदिन एक से दो चम्मच अलसी को अपनी डायट में शामिल कर, पाएं मॉइस्चराइज़्ड और सेहतमंद त्वचा। कुकीज़ बेक करते समय उसपर अलसी छिड़कें। दोसा बैटर में 1 से 2 टेबलस्पून पीसी हुई अलसी मिला सकती हैं।

यह भी पढें…ना सर्जरी ना कोई दवाई, इन घरेलू तरीकों से हटाएं गर्दन, हाथ व पीठ के मस्से
*इसमें मौजूद ऐंटीऑक्सिडेंट्स कैंसर की संभावनाओं को कम करता है।  एक शोध के मुताबिक़ अलसी ओवेरियन कैंसर की संभावना को कम करता है। सूरज की हानिकारक किरणों से त्वचा को होनेवाले नुक़सान को कम करने में भी अलसी का सेवन सहायता करता है। जिससे त्वचा संबंधी कैंसर होने की संभावना घट जाती है। गेहूं पिसाते समय उसमें थोड़ी-सी अलसी मिलाकर खाना चाहिए। दही के साथ भी भुनी हुई अलसी खाई जाती है।

*नियमित रूप से अलसी का सेवन करने से बाल मुलायम और मज़बूत बनते हैं। यह बालों को पोषण प्रदान करता है, जिससे बालों का झड़ना कम होता है। अलसी के तेल को बालों पर लगाने से डैंड्रफ़ की समस्या से भी निजात मिलती है।

यह भी पढें…मोटापा नहीं बनेगा आपका दुश्मन, इन हेयर स्टाइल से खुद को बनाएं स्लिम
*अध्ययन बताते हैं कि लिग्नन्स युक्त फ़ूड्स खाने से शुगर लेवल नियंत्रित रहता है. अलसी में बड़ी मात्रा में लिग्नन्स होते हैं. प्रतिदिन अलसी का सेवन करने से डाइबिटीज़ नियंत्रित करने में मदद मिलती है। इसमें मौजूद ऐंटीऑक्सिडेंट्स भी शुगर लेवल को कम करने में मदद करते हैं।