खाली पेट पिएं सेब की चाय

खाली पेट पिएं सेब की चाय

नई दिल्ली । फिट रहने के लिए आपने ग्रीन टी और लेमन टी ही नहीं बल्कि सेब की चाय भी बहुत लाभप्रद होती है। सेब की चाय न केवल वजन घटाने में मदद करती है बल्कि आपकी खूबसूरती में भी इजाफा करती है। सेब की चाय से आपको एक नया फ्लेवर चखने का मौका भी मिलेगा।

सेब में मिनरल्स, एंटीऑक्सिडेंट्स सब कुछ भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। सेब की चाय यूरोप में काफी प्रचलित है। ये हाई बीपी और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में भी मदद करता है।
सेब की चाय में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है।
सेब में मौजूद फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट पॉलीफेनॉल तत्व रक्त से कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) या खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं।

एक स्वस्थ पाचन तंत्र वजन घटाने से जुड़ा हुआ है और सेब की चाय पाचन को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है क्योंकि सेब में घुलनशील फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। घुलनशील फाइबर वजन घटाने के लिए भी जाने जाते हैं। सेब में मैलिक एसिड भी होता है, जो एक स्वस्थ पाचन तंत्र सुनिश्चित करता है।

सेब की चाय में मौजूद डाइट्री फाइबर से कब्ज की समस्या से भी छुट्टी मिलती है। सेब की चाय शरीर से विषाक्त पदार्थ निकालने की प्रक्रिया को बेहतर बनाती है साथ ही कोशिकाओं को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाती है।
एंटीऑक्सिडेंट्स के अलावा सेब में प्राकृतिक शर्करा होती है, जो मेटाबोलिक बैलेंस में सुधार करने के साथ ब्लड शुगर के स्तर को भी नियंत्रित करती है।
यह ब्लड शुगर के लेवल में अचानक वृद्धि या गिरावट को रोकता है, जो आपकी अधिक खाने की इच्छा को कंट्रोल करता है।

सेब नेगेटिव कैलोरी फल में आता है। जिसका मतलब है कि इसमें बेहद कम या न के बराबर कैलोरी होती है।
सेब की चाय बनाने के लिए, आपको एक सेब, तीन कप पानी, 1 टेबल स्पून नींबू का रस, दो टी बैग और दालचीनी पाउडर की आवश्यकता होती है। पैन में पानी और नींबू का रस डालें, अब पैन में टी बैग डालें। इसे कुछ देर उबलने दें। कटे सेब को उबलते मिश्रण में डालें। अब लगभग पांच मिनट के लिए इसे उबालने दें। इसके बाद इसमें दालचीनी पाउडर मिलाएं। चाय में मिली दालचीनी डिटॉक्सीफाई करने और सूजन कम करने में मदद करती है।