सनफ्लावर का रेग्यूलर करेंगे यूज तो आपको मिलेगी हर रोज परफेक्ट डाइट

0
510

जयपुर: पोषक तत्वों से भरपूर गुणों के कारण सनफ्लावर हमारे जीवन के लिए एक परफेक्ट डाइट है। इसके बीजों में फैटी एसिड, विटामिन, मिनरल होते हैं जो शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं। पोषक तत्वों की गुणों के कारण सनफ्लावर एक परफेक्ट डाइट है। इसके बीजों में फैटी एसिड विटामिन मिनरल होते हैं जो शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं। डाइटिशिएन के अनुसार जानिए रोजाना सनफ्लावर के बीज से बनी डिश रेग्यूलर खाने के फायदे होते हैं।

यह भी पढ़ें…सुख-सौभाग्य में होगी वृद्धि, घर में स्थापित करें शंख, अगहन में है पूजन का विशेष महत्व

भूने हुए सनफ्लावर बीज एक अच्छा हेल्दी स्नैक्स माने जाते हैं।  इन्हें आप सुबह के नाश्ते में का सकते हैं। एकस्ट्रा पोषक तत्व पाने के लिए इन्हें आप चिकन करी और मिक्स वेज में भी डाल सकते हैं। इसके अलावा इन्हें सलाद और पास्ता में भी मिलाया जा सकता है।  किसी भी डिश को क्रंची टे्कसचर देने के लिए आप इसमें सनफ्लावर के बीज डाल सकते है।

किसी भी डिश को क्रंची टे्कसचर देने के लिए आप इसमें सनफ्लावर के बीज डाल सकते हैं। सनफ्लावर के आटे को केक, मफीन्स और ब्रेड में भी सामिल किया जा सकता है।

फायदे

*सनफ्लावर के बीज भले ही दिखने में आकर्षक न लगें, लेकिन गुणों के मामले में ये कमाल होते हैं। इन बीजों में विटामिन ई और पोली अन-सैचुरेटेड फैट व मैग्नीशियम कफी होता है। इसके तेल के नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है। महिलाओं तथा उम्रदराज लोगों के लिए भी यह काफी लाभदायक होते हैं।

*सनफ्लावर के बीजों के ऐसे ही कुछ कमाल स्वास्थ्य लाभ।  सूरजमुखी के बीजों में मौजूद विटामिन ‘ई’, संधिशोथ, अस्थमा, पेट के कैंसर, उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर, उच्च रक्तचाप, दिल के दौरे और स्ट्रोक आदि गंभीर रोगों से बचाव करता है।

यह भी पढ़ें…परिवार रहेगा खुशहाल, मन होगा शांत, अगर करेंगे ये वास्तु का उपाय
*सनफ्लावर के बीजों में प्रचुर मात्रा में मौजूद विटामिन बी6 और जिंक शरीर का मेटाबॉलिज्म दुरुस्त रखते हैं और सीबम के निर्माण को भी नियंत्रित करते हैं। इसके सेवन से सिर की त्वचा पर डैंड्रफ भी नहीं होती है।

*सनफ्लावर के तेल हृदय रोगियों के लिए फायदेमंद होता है। यह रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्र को नियंत्रण रखता है। साथ ही साथ अच्छे कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल) की मात्र को बढ़ाता है और खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करता है। यह शरीर में जमा अतिरिक्त वसा को कम करता है और रक्तचाप बढ़ाने वाले रसायन ‘डोपामाइन डी-1’ को घटाता है।

*सनफ्लावर के बीज का तेल त्वचा की नमी बनाए रखने में मदद करता है और शरी और त्वचा के बैक्टीरिया के खिलाफ रक्षा करने में भी मदद करता है।