इलाहाबादः कानपुर में कन्‍हैया कुमार के सैनिकों पर किए गए विवादित बयान को लेकर विरोध तेज हो गया है। एक तरफ कांग्रेस के वाइस प्रेसीडेंट राहुल गांधी जेएनयू में कन्‍हैया कुमार के समर्थन में दिख रहे हैं वहीं दूसरी ओर उनके ही कार्यकर्ताओं ने कन्‍हैया के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह बैनर लगाकर कन्‍हैया का विरोध किया है।

कांग्रेस युवा मोर्चा के अध्यक्ष जीतेन्द्र तिवारी ने क्‍या कहा-
-जेएनयू अध्यक्ष ने सैनिकों को लेकर जो अभद्र बातें की हैं।
-उसको लेकर पूरे देश के लोग न केवल आहत हैं, बल्कि गुस्से में हैं।
-उनके इस बयान से न केवल जेएनयू के छात्रों को  बल्कि देश के सभी छात्रों को शर्म से पानी-पानी कर दिया है।
-अपने इसी गुस्से को लेकर उन्होंने ये बैनर जगह-जगह लगाया है।
-उनका कहना है कि सभी स्‍टूडेंट मिलकर कन्हैया को उसके इस बयानबाजी के लिए सबक सिखाएंगे।
-अगर उनको सजा देने के लिए दिल्ली तक जाना पड़ेगा तो वो लोग वहां भी जाएंगे।

बैनर में क्‍या लिखा है
बैनर में ऊपर लिखी लाइनों में कन्‍हैया पर वार किया गया है। नीचे कांग्रेस के जिलाध्‍यक्ष जितेन्‍द्र तिवारी और मीडिया प्रभारी फारूख खान का नाम लिखा हुआ है। बैनर में लिखा है कि- ”कन्‍हैया हम शर्मिन्‍दा हैं, तू भारत में जिंदा है। सैनिक हमारी जान हैं, वो भारत की शान हैं। जिस दिन तुमको मारेंगे छात्र कलंक उतारेंगे।”  पिछले दिनों कांग्रेस प्रेसीडेंट सोनिया गांधी भी इलाहाबाद गईं थीं, उसके बाद गुरुवार को कांग्रेसियों का सड़क पर उतरना शीर्ष  नेतृत्‍व के खिलाफ रोष को बयां कर रहा है।

पीके की मीटिंग में भी शीर्ष नेतृत्‍व पर उठे थे सवाल
पीके की मीटिंग में भी गुरुवार को जिले से आए नेताओं ने दबे शब्‍दों में राहुल-सोनिया को टारगेट किया था। नेताओं ने पीके से सवाल किया था कि हम लोग तो जमीनी स्‍तर पर पार्टी के लिए काम कर रहे हैं, लेकिन बड़े नेता अमेठी-रायबरेली से आगे क्‍यों नहीं बढ़ते।