नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों पर अभीतक जहां केंद्र सरकार चुप्पी साधे हुई थी। वहीं अब केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि जिस व्यक्ति पर सवाल उठे हैं उसे ही इसका जवाब देना चाहिए। मुझे उम्मीद है कि आवाज उठाने वाली महिलाओं को न्याय मिलेगा।

ये भी देखें : न्यूज पोर्टल द क्विंट के सह-संस्थापक राघव बहल के घर-दफ्तर पर आईटी की रेड

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘जिस व्यक्ति पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं, उस व्यक्ति को ही इस बारे में स्पष्टीकरण देना चाहिए क्योंकि जब ये घटनाएं हुईं तो मैं वहां उपस्थित नहीं थी। मुझे यह देखकर खुशी हो रही है कि मीडिया अपने महिला साथियों के साथ खड़ा है। यौन उत्पीड़न की घटनाओं को सामने लाने वाली महिलाओं का न तो मजाक उड़ाना और न ही उन्हें शिकार बनाया जाना चाहिए।’

मंत्री ने कहा, ‘महिलाएं कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न का शिकार होने नहीं जाती हैं। वे अपने सपनों को पूरा करने और एक सम्मानित जीवन जीने के लिए जाती हैं। मुझे उम्मीद है कि जो महिलाएं आज आवाज उठा रही हैं उन्हें न्याय जरूर मिलेगा।’

ये भी देखें : यहां आचार संहिता क्या लागू हुई, जमीन पर उतर आया मोदी का स्वच्छ भारत

वहीं नौ महिला पत्रकारों के साथ यौन दुर्व्यवहार के आरोपों से घिरे अकबर पर इस्तीफे के दबाव की खबर को केंद्र सरकार के हमारे सूत्रों ने खारिज कर दिया है।