22 अमेरिकी महिलाओं को 4.69 अरब डॉलर मुआवजा देगी जॉनसन, क्यों! जानें यहां

0
181

लखनऊ: बच्चों के लिए उत्पाद बनाने वाली मशहूर कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन पर अमेरिका की एक अदालत ने 470 करोड़ डॉलर (लगभग 32,000 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया है। अदालत ने ये फैसला 22 अमेरिकी महिलाओं द्वारा जॉनसन एंड जॉनसन कम्पनी के खिलाफ कोर्ट में दायर एक मुकदमें की सुनवाई के दौरान सुनाया है। जिसमें इन महिलाओं ने जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर के इस्तेमाल के बाद ओवेरियन (गर्भाशय) कैंसर होने का आरोप लगाया था। कोर्ट ने भी इन आरोपों को सही माना है।

Image result for johnson and johnson

newstrack.com आपको इस पूरे मामले के बारे में विस्तार से बताने जा रहा है।

 ये है पूरा मामला
जॉनसन एंड जॉनसन कम्पनी का विवादों से पुराना नाता रहा है। 1982 में अमेरिका में जॉनसन एंड जॉनसन के टायलीनॉल दवा से 7 लोगों की मौत हो गई थी और कंपनी ने 3.1 करोड़ बोतलों को तुरंत वापस लिया था। वहीं 2008 में कई लोगों ने कंपनी के उत्पादों पर बदबू और मिलावट का आरोप लगाया था। 2 साल बाद कंपनी ने करीब तीन करोड़ यूनिट प्रोडक्स वापस लिए।

Image result for johnson and johnson

 

2010 में कंपनी के वाशिंगटन प्लांट को बंद करना पड़ा। 2011 में मिर्गी की दवा टोपामैक्स की 57000 बोतलें वापस ली क्योंकि दवा में बदबू थी। 2011 में ही 5 लॉट इंसुलिन पंप के कार्टिजेज मिलावट की आशंका के कारण वापस हुए। 2012 में बेबी लोशन की 2000 ट्यूब ज्यादा बैक्टरिया के कारण वापस हुए। 2013 सायकोटिक दवा की गलत प्रचार में 220 करोड़ डॉलर का जुमार्ना लगा और इसके लिए डॉक्टरों ने रिश्वत भी ली थी।

Image result for johnson and johnson

जॉनसन एंड जॉनसन के नो मोर टीयर वाले बच्चों के शैम्पू पर भी सवाल उठे। इस शैम्पू पर कई स्वास्थ्य संगठनों ने सवाल उठाए।

Image result for johnson and johnson

वहीं अमेरिका की 22 महिलाओं ने जॉनसन एंड जॉनसन के टैलकम पाउडर में एसबेस्टस होने और इसके इस्तेमाल से गर्भाशय का कैंसर होने का आरोप लगाया था। इसी मामले में फैसला सुनाते हुए मिसौरी की अदालत ने महिलाओं को हर्जाना देने को कहा है।

Image result for johnson and johnson

जॉनसन का है इतने करोड़ रूपये का कारोबार
जॉनसन एंड जॉनसन कम्पनी का केवल भारत में बेबी केयर का कारोबार 92500 करोड़ रुपये का है। अगले 4 साल में कारोबार बढ़कर 1.98 लाख करोड़ रुपये का होने का अनुमान है। भारत में बेबी केयर कारोबार में जॉनसन एंड जॉनसन का मार्केट शेयर 70 फीसदी से ज्यादा है। जॉनसन एंड जॉनसन, भारत में फिलहाल सिर्फ बेबी केयर कारोबार में है।

Image result for johnson and johnson

कम्पनी पर पहले से 9,000 मुकदमें
जॉनसन एंड जॉनसन पाउडर के इस्तेमाल से कैंसर होने के मामले में कई बार कंपनी पर जुर्माना लगाया जा चुका है। लेकिन, यह इसके लिए अब तक का सबसे बड़ा आर्थिक दंड है। इस समय कंपनी पर लगभग 9,000 मुकदमे चल रहे हैं। जिसमें से कुछ केस इंडिया में भी चल रहे है, इनमें पाउडर के इस्तेमाल से कैंसर होने और इसमें एसबेस्टस होने के आरोप लगाए गए हैं।

Image result for johnson and johnson

कंपनी के शेयरों में गिरावट
लगभग पांच सप्ताह तक चली सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों ने अपनी ओर से विशेषज्ञ पेश किए। हालांकि अदालत के फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कंपनी ने कहा कि मामले की सुनवाई सही तरीके से नहीं हुई है और वह फैसले को चुनौती देगी। अदालत का फैसला आने के बाद शेयर बाजार में जॉनसन एंड जॉनसन के शेयर का मूल्य गिर गया।

 

Facebook Comments