श्रीनगर : सूबे के कुपवाड़ा जिले में सुरक्षाबलों ने दो खूंखार आतंकियों हूरों के पास भेज दिया है। इनमें से एक आतंकी हिज्बुल मुजाहिदीन का  कमांडर मन्नान वानी है। मन्नान अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का छात्र रहा है। वानी अचानक यूनिवर्सिटी से गायब हो गया था। खबर मिली की वो हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है। इसके बाद एएमयू ने मन्नान को निष्कासित कर दिया था।

ये भी देखें : Jammu and Kashmir : कुपवाड़ा में मुठभेड़ जारी, 3 आतंकी घिरे, एक जवान घायल

 पीएचडी छोड़ बना आतंकी

मन्नान वर्ष के आरंभ में एएमयू का अपना पीएचडी कोर्स छोड़कर हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। इसके बाद आतंकी संगठन ने उसे कुपवाड़ा कमांडर बना दिया। मन्नान सेना की मोस्ट वॉन्टेड टेररिस्ट की लिस्ट में शामिल था। काफी समय से उसकी तलाश चल रही थी।

आतंकियों के समर्थन में हिंसा

मन्नान की तलाश कर रही सेना को गुरुवार सुबह पता चला कि वो अपने साथिओं के साथ हंदवाड़ा में छिपा है। इसके बाद करीब 9 बजे राष्ट्रीय राइफल्स, पैरा स्पेशल फोर्स, एसओजी और सीआरपीएफ की टीमों ने शाटगुंड की घेराबंदी की और आतंकियों से सरेंडर करने की अपील की। लेकिन आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर भागने की कोशिश की।

फायरिंग के जवाब में सेना ने भी जवाबी फायरिंग की। सूत्रों के मुताबिक एक आतंकी को गिरफ्तार किया गया जबकि दो को मार गिराया गया है। जब ये खबर स्थानीय लोगों को पता चली तो कुछ उपद्रवियों ने सुरक्षाबलों पर पथराव आरंभ कर दिया, लेकिन जवानों ने आंसू गैस के गोले और पैलेट गन के प्रयोग से उन्हें खदेड़ दिया।

ये भी देखें : Jammu and Kashmir: सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 2 आतंकवादी ढेर

इलाके के स्कूल-कॉलेज हुए बंद, इंटरनेट पर लगा बैन

इस मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों की ओर से अभी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। वहीं उपद्रव के बाद कुपवाड़ा के स्कूल-कॉलेजों को बंद कर इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई है।