अजब-गजब

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक जी ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय संस्था यूनेस्को द्वारा कुम्भ को ‘मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत’ की सूची में सम्मिलित किया गया है।

जनवरी में आरंभ हो रहे कुंभ को यदि आप सिर्फ धार्मिक अनुष्ठान या सिर्फ एक मेला मान रहे हैं तो आपकी सोच को बदल डालें। क्योंकि यहां ऐशोआराम के ऐसे इंतजाम किए गए हैं जो एक आम आदमी के लिए सपने से ज्यादा नहीं हो सकते। हम आपको बताते हैं कैसे 5 सितारा कॉटेज नजर आते हैं और क्या है इनमें खास...

इलाहाबाद : सदियों से राजनैतिक, धार्मिक, शैक्षिक गतिविधियों का केंद्र रहा इलाहाबाद अब प्रयागराज हो चुका है। लिखा पढ़ी की माने तो 160 साल बाद जिले का नाम बदला गया है। तो इस पावन मौके पर आज हम इस बात पर लाइट डालने वाले हैं कि इस शहर ने कैसे रंग बदला हम गिना रहे …

लखनऊ: प्रयाग कुम्भ-2019 से पहले गंगा नदी पर वाराणसी से इलाहाबाद के बीच में जल परिवहन शुरू हो जाएगा। गंगा नदी पर फाफामऊ में एक और सेतु का निर्माण किया जा रहा है। यूपी सरकार का भी पूरा फोकस कुंभ को देखते हुए प्रयागराज से जुड़ी सड़कों की मरम्मत व निर्माण पर है। ताकि श्रद्धालुओं …

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में अगले वर्ष लगने वाले कुंभ मेले को लेकर सरकार ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। अधिकारियों का दावा है कि कुंभ के दौरान पहली बार देश एवं विदेश से आने वाले श्रद्घालुओं को हेलीकॉप्टर की सुविधा मुहैया कराई जाएगी और साथ में पूरे कुंभ में टेंट सिटी …

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में नई सरकार के गठन के बाद से ही इलाहाबाद में अगले वर्ष होने वाले कुंभ के आयोजन को लेकर अधिकारी पूरी तरह से सचेत हैं। वजह यह है कि केंद्र और उप्र सरकार के सबसे प्राथमिकता वाले आयोजनों में कुंभ 2019 का आयोजन भी शामिल है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद …

स्मार्ट सिटी के कार्यों में प्रशासन एवं कन्सल्टेंट एजेंसी की प्रगति और तैयारियों की समीक्षा शहरी विकास मंत्रालय भारत सरकार के अपर सचिव डा0 समीर शर्मा ने शनिवार को की।मण्डलायुक्त कार्यालय के त्रिवेणी सभागार में हुई इस बैठक में अपर पुलिस महानिदेशक ए

जिन हाथों में माला होनी चाहिए, उनमें भाला तना है। जिस जुबान पर राम नाम होना चाहिए, वहां से मुंहफट गालियां निकल रही हैं। धर्मभीरु समाज जिनमें भगवान का रूप निहारता है, उनमें दानव दिख रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से कुछ संतों के बीच उभरा विवाद कुछ ऐसे ही हालात पैदा किए हुए है। …

अखाड़ा परिषद की बैठक में तय हुआ कि इस बार अखाड़े पक्के घाटों में स्नान करेंगे। दूसरा बदलाव है अर्धकुम्भ में इस बार फर्जी मठाधीशों के प्रवेश पर प्रतिबंध होगा। दो साल बाद संगम तट पर होने जा रहे अर्धकुम्भ में इस बार शाही स्नान पक्के घाटों पर होगा।

लखनऊ: साल 2004 में उज्जैन में हुए सिंहस्थ कुम्भ में प्रधानमंत्री मोदी ने भी क्षिप्रा नदी में डुबकी लगाई थी। तब वो बतौर गुजरात के सीएम वहां गए थे। इस साल भी उज्जैन में सिंहस्थ कुम्भ का आयोजन 22 अप्रैल से 21 मई तक होना है। उससे पहले ही सोशल मीडिया पर उस समय की तस्वीरें …