नई दिल्ली : रूस में तालिबान के साथ हो रही वार्ता में इंडिया के शामिल होने के बाद जब विवाद बढ़ा तो सफाई देने के लिए विदेश मंत्रालय सामने आया। मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, मॉस्को बैठक में इंडिया अनाधिकारिक तौर पर शामिल हो रहा है।

यह भी पढ़ें : अफगानिस्तान में अमेरिका बुरी तरह फेल

रवीश ने कहा, इंडिया अफगानिस्तान में शांति और सुलह के सभी प्रयासों का समर्थन करता है। देश की सुरक्षा और खुशहाली के लिए भारत हमेशा उसके साथ है।

यह भी पढ़ें: कश्मीर पर जागृति शुक्ला के ट्वीट से आया तूफान, ट्विटर ने सस्पेंड किया अकाउंट

नैशनल कॉन्फ्रेंस सुप्रीमो उमर अब्दुल्ला ने इस बैठक को लेकर कहा, सरकार तालिबान के साथ वार्ता में शामिल हो रही है तो जम्मू-कश्मीर में सभी पक्षों के साथ ऐसी वार्ता क्यों नहीं?

यह भी पढ़ें: देश के 12 में से UP के 10 शहर प्रदूषित, लखनऊ की हवा दिल्ली से भी ज्यादा जहरीली