लखनऊ : लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर जब चर्चा आरंभ हुई तो एक डैशिंग से सांसद साहब ने अमरीका वाली अंग्रेजी में अपनी बात शुरू की। सांसद जी जो भी बोले गजब बोले। लेकिन अपने आधे सांसद समझ ही नहीं सके की ये वाले सांसद बोल क्या रहे हैं। लेकिन हमारा मुद्दा उनकी स्पीच नहीं है। हम तो उनके ही बारे में ज्ञान बांटने वाले हैं।

तो भाइयों इन सांसद महोदय का नाम है जयदेव गल्ला। जयदेव आंध्र प्रदेश की गुंटूर सीट से टीडीपी सांसद हैं। बहुत सारा टाइम अमेरिका में रहे हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में 683 करोड़ की संपत्ति अपने हलफनामे में घोषित की थी। पहली बार में ही सांसद भी बन गए।

ये भी देखें :अविश्वास प्रस्ताव : भाषण खत्म कर पीएम मोदी को राहुल ने दी ‘जादू की झप्पी’
ये भी देखें :संसद में राहुल बाबा का ‘प्र‍िया प्रकाश’ मोड हुआ ऑन, मिशन कम्प्लीट

जयदेव अमारा राजा ग्रुप ऑफ कंपनीज के एमडी हैं। कंपनी पिता रामचंद्र नायडू ने शुरू की थी। वो भी अमेरिका में लगभग बीस साल रहे। लेकिन जब परदेसी को अपनी मिट्टी ने आवाज दी तो वो अपने परिवार के साथ लौट आया इंडिया। अब यहां करने को कुछ था नहीं तो अमारा राजा ग्रुप ऑफ कंपनीज की शुरुआत की। आज इसका टर्नओवर लगभग छह हजार करोड़ का है। ये तो पिता जी की बात थी। अब आगे बेटे जी की बात करते हैं।

जयदेव को विरासत में कारोबार पिता से मिला तो राजनीति मां अरुणा से। मम्मी जी भी अमेरिका में पढ़ीं बढ़ी हैं। उन्होंने इंडिया आकर कांग्रेस का दामन थाम लिया और पहले विधायक फिर मंत्री बनी। कांग्रेस की राजनीति पसंद नहीं आई तो टीडीपी में शामिल हो गई।

ये भी देखें : जानिए दुनिया में पहली बार किस देश में लाया गया ‘अविश्वास प्रस्ताव’ और क्यों
ये भी देखें :अविश्वास प्रस्ताव : राहुल गांधी की फिसली जुबान, जोर-जोर से हंस पड़े PM
ये भी देखें : अविश्वास प्रस्ताव : नेता जी करने लगे ‘साले की फिल्म’ का प्रचार !

जयदेव की शादी भी कम भौकाली फैमिली में नहीं हुई है। उनकी पत्नी पद्मावती तेलुगु स्टार कृष्णा की बेटी हैं। इनके साले का नाम है महेश बाबू। ये वही बाबू हैं जो सिल्वर स्क्रीन में एक साथ 40-50 गुंडों का बोलो राम कर देते हैं। जयदेव के साहबजादे भी बड़े वाले खिलाड़ी हैं। नाम है अशोक गल्ला। ये हाल में ही एक तुर्किश फिल्म में नजर आए थे। जिसकी चर्चा इंटरनेशनल लेबल पर हुई।

अब बात करते हैं मुद्दे की। आज जिस तरह जयदेव को पार्टी ने सदन में प्रस्ताव पर बहस आरंभ करने की बड़ी जिम्मेदारी दी। उससे साफ हो गया कि अध्यक्ष जी मतलब चंद्रबाबू नायडू उन्हें बड़ा चेहरा बनाने का मन बना चुके हैं।

अब आगे क्या होगा ये तो भविष्य ही बताएगा हमें जितनी जानकारी थी आपको दे दी।