सुंजवां मुठभेड़ में शहीद उत्तराखंड के बेटे राकेश चंद रतूड़ी को दी अंतिम विदाई

0
75
श्रद्धांजलि अर्पित करते उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल

देहरादून: जम्मू-कश्मीर के सुंजवां में आतंकवादियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड के बहादुर जवान हवलदार राकेश चंद रतूड़ी शहीद हो गए। उनका पार्थिव शरीर मंगलवार को देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट लाया गया। जहां सेना ने सैनिक सम्मान के साथ उन्हें श्रद्धांजलि दी।

बुधवार (14 फरवरी) को हरिद्वार में शहीद राकेश चंद रतूड़ी का अंतिम संस्कार किया गया। उनके अंतिम दर्शन के लिए उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल हरिद्वार पहुंचे और श्रद्धांजलि अर्पित की।

उत्तराखंड वीरभूमि भी है
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा, कि ‘उत्तराखंड न केवल देवभूमि है बल्कि वीरभूमि भी है। यहां के वीरों ने समय-समय पर देश की आन, बान और शान को बचाए रखने के लिए अपने प्राणों की आहूति दी है।’ प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा, कि ‘देश के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाले हवलदार राकेश रतूड़ी का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।’

बता दें कि शहीद राकेश रतूड़ी आतंकवादियों से लोहा लेते हुए घायल हो गए थे। उन्हें दिल्ली के सेना हॉस्पिटल में इलाज के लिए लाया गया। यहीं उन्होंने अंतिम सांसें ली।

loading...