भुवनेश्वर: आंध्र प्रदेश और ओडिशा में चक्रवाती तूफान तितली पहुंच चुका है। ऐसे में ओडिशा के तटीय इलाकों से हटाकर तीन लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया गया है। वहीं, इस तूफान के तेजी से बढ़ने के कारण ओडिशा सरकार ने 18 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है। बताया जा रहा है कि बंगाल की खाड़ी पर बन रहे दबाव के कारण ओडिशा और आंध्र प्रदेश में चक्रवाती तूफान तितली के आने के हालात पैदा हुए।

यह भी पढ़ें: ओडिशा : 145 km प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा ‘तितली’, मचा सकता है तबाही

बता दें, यह तूफ़ान इतना तेज है कि कई इलाकों में बिजली के पोल और पेड़ गिर गए हैं। ऐसी स्थिति में एनडीआरएफ की टीमों को राहत और बचाव के लिए तैनात किया गया है। उधर, तूफानी हवाएं 140 से 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गोपालपुर में पहुंच रही है। जानकारी के अनुसार, इन तूफानी हवाओं की रफ़्तार 165 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है।

खबरों के अनुसार, तूफानी हवाएं सुबह साढ़े चार बजे गोपालपुर में 126 किमी प्रति घंटे तो लिंगपटनम में 56 किमी प्रति घंटे की तेजी से दर्ज की गईं। वहीं, इस तूफ़ान के कारण स्कूल- कॉलेज बंद कर दिए गए हैं और कई ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं।