भारत ने संयुक्त राष्ट्र को दिया 50 हजार डॉलर, वजह बेहद खास

0
132

संयुक्त राष्ट्र : भारत ने युवाओं की मदद के लिए संयुक्त राष्ट्र को 50 हजार डॉलर का योगदान दिया है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस युवा मामलों के प्रतिनिधि के कार्यालय को दिया गया यह योगदान वैश्विक संस्था में युवाओं की भागीदारी बढ़ाने के मिशन का हिस्सा है।

संयुक्त राष्ट्र मिशन में भारत के प्रथम सचिव पॉलोमी त्रिपाठी ने शुक्रवार को योगदान की यह राशि संयुक्त राष्ट्र के युवा मामलों के प्रतिनिधि जयथ्मा विक्रमनायके को सौंपी।

यह ऐच्छिक योगदान राशि है और भारत की ओर से संयुक्त राष्ट्र के आम बजट व शांति स्थापित करने के खर्च में दिए जाने वाले योगदान के अतिरिक्त है।

ये भी देखें : PM के ड्रीम प्रोजेक्ट में CEO छोड़ सभी पद खाली, उधारी के भरोसे प्राधिकरण

विक्रमनायके ने ट्वीट करके भारतीय प्रतिनिधि को कहा, “35 करोड़ युवाओं का देश भारत हमारा अहम भागीदार है और हम वास्तव में आपके साथ मिलकर काम करने की आशा करते हैं।”

उन्होंने भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन को उनके ‘नेतृत्व और संयुक्त राष्ट्र युवा मामलों के प्रतिनिधि के कार्यालय को मदद’ करने के लिए धन्यवाद दिया।

युवा मामलों के प्रतिनिधि का मिशन युवाओं की भागीदारी बढ़ाने और संयुक्त राष्ट्र के चार प्रमुख कार्यो जैसे, टिकाऊ विकास, मानवाधिकार, शांत व सुरक्षा और मानवतावादी के काम-काज में उनकी हिस्सेदारी की वकालत करना है।