HEALTH TIPS: बच्चे के पेट दर्द को न करें नजरअंदाज, अपनाएं ये नुस्खें

जयपुर: जब तक आपका बच्चा छोटा है उसे कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कभी-कभी वह अचानक से रोने लगता है ,उसके रोने का कारण जानना में के लिए जरूरी होता हैं।बच्चों के रोने का कारण पेट में दर्द  का होना होता हैं। कभी उसे भूख लगी होती हैं ,तो कभी अधिक दूध पी लेता हैं या खाना खा लेता हैं। कभी – कभी बच्चे के पेट में गैस बनने से भी पेट में दर्द होने लगता हैं। बच्चों में पेट दर्द का होना एक आम बात है और बहुत समय यह कोई चिंता का कारण नहीं होती। परन्तु कभी कभार यह गंभीर बीमारियों की और भी इशारा करती  हैं। पेट का दर्द अधिकतर आंत के आस पास के हिस्से में होता है। यह जानना बेहद जरुरी है कि कब कब दर्द होता है।

ध्यान रखें व उपाय करें

पेट का दर्द एक से दो दिनों के अंदर खुद खत्म हो जाना चाहिए। मगर एक सप्ताह से ज्यादा होने पर भी पेट का दर्द अगर बना रहे तो  डॉक्टर को संपर्क करना चाहिए। अगर पेट का दर्द या सूजन  समय के साथ बढ़ रहा है और साथ में चक्कर या फिर उलटी भी हो रही हो तो डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

निश्चित समय पर खाना खाने के कारण – कई बार निश्चित समय पर खाना ना खाने से, लम्बे समय तक भूखे रहने से, तली भुनी चीज़े ज़ादा खाने से आपके बच्चे के पेट में दर्द हो सकता है।ज़रुरत से ज़ादा खाने के कारण – कई बार बच्चे स्वादिष्ट व्यंजन ज़रूरत से ज़ादा खा लेते हैं जिसके कारण उनके पेट में दर्द होता है।

कुछ भारी सामान उठाने के कारण – अगर आपका बच्चा अधिक भारी सामान उठाया है तो भी उसका पेट दर्द हो सकता है।बच्चे के पेट दर्द से छुटकारा  पाने के लिए यह कुछ आसान घरेलू नुस्खों को अपनायें।

रिसर्च:महिलाओं से ज्यादा संवेदनशील होते है पुरुष,दर्द भी होता है उनसे ज्यादा
*एक चमच्च में थोड़ा सा पानी दाल गरम कर लें। उसी में थोड़ा – सा हींग डालकर पेस्ट बना लें और बच्चे के नाभि के चारों तरफ लगा दें। इससे कुछ मिनटों में आपके बच्चे को पेट दर्द से आराम मिल जायेगा।

*एक चुटकी हींग, थोड़ा सा अजवाइन और काला नमक मिलकर गुनगुने पानी से अपने बच्चे को खिलायें। थोड़ी ही देर में आपके बच्चे को पेट दर्द से आराम मिल जायेगा।

*10 ग्राम हर्रे, 10 ग्राम अजवाइन और 10 ग्राम हींग और स्वाद के अनुसार काला नमक मिलकर पीसलें। इसे चूर्ण की तरह सुबह शाम अपने बच्चे को खिलायें।बच्चे का पेट दर्द होने पर गरम पानी वाली थैली पर तौलिया लपेट कर बच्चे की पेट की सिकाई करें।

*यदि आप का बच्चा पेट दर्द से रो रहा है तो, सरसो का तेल हल्का गुनगुना कर के बच्चे के पेट की हल्की मालिश करें इससे उसको आराम मिलेगा।यदि आप का बच्चा एक साल से कम उम्र का है तो दूध पिलाने के बाद उसे अपने कंधे पर ले कर उसकी पीठ को सहलाएं या हल्का – हल्का ठोक दें, जिससे उसके पेट में बनी हुई गैस डकार के रूप में निकल जाएगी और बच्चे को आराम मिल जायेगा।

*मूली का रस पिलाने से भी पेट दर्द में आराम मिलता है।यदि आप के बच्चे को दस्त के साथ पेट में दर्द हो रहा हो तो थोड़ा सा मेथी का दाना चीनी के साथ मिलकर सादा पानी के साथ खिला दे इससे बच्चे के दस्त में आराम मिलेगा और उसका पेट दर्द ठीक हो जायेगा।

कभी – कभी बच्चे का पेट न साफ होने की वजह से भी उसे तकलीफ होती हैं इसलिए एक कप दूध में एक कप पानी मिलकर उसे उबाल ले ,ठंडा करके उसे बच्चे को पिलाये।ठंडा कर के पिलाने से उसका पेट भी साफ होगा और बच्चे के पेट में आराम भी मिलेगा।