वास्तु दोष की वजह से भी होती है ये जानलेवा बीमारी,जानना है जरूरी

जयपुर:जिन बड़ी बीमारियों के कारण हम कष्ट झेलते हैं, दवाइयां खाते हैं तथा किस्मत को कोसते हैं उसका कारण केवल रहन -सहन नहीं, बल्कि वास्तु दोष भी हो सकता है। कैंसर जैसे जटिल रोग का कारण काफी हद तक हमारे घर का वास्तु दोष भी हो सकता है। वर्तमान में बन रहे घरों की बनावट पुराने जमाने की तरह रैक्टेंगुलर न होकर अनियमित आकार की हो रही है, जिसमें घर का कोई कोना दबा दिया जाता है या कोई कोना बाहर निकाल दिया जाता है। तो घर का कोई भाग नीचा बनाया जाता है।

ऐसी अनियमित बनावट के कारण घर में सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा के बीच असंतुलन पैदा हो जाता है। इसी कारण दुनिया में हर प्रकार के रोग बढ़ते जा रहे हैं, क्योंकि वास्तु का रोगों से अभिन्न संबंध है। घर का वास्तुनुकूल निर्माण न होने के कारण ही कैंसर ने महामारी का रूप ले लिया है।

6 जनवरी: किसके लिए आनंददायक, किसके लिए दुखद है दिन, जानिए राशिफल

जिन घरों में किसी भी प्रकार के कैंसर के मरीज हैं, उनके घर में दो या दो से अधिक वास्तु दोष अवश्य होते हैं, जिसमें से एक वास्तु दोष ईशान कोण वाले भाग में अवश्य होता है, जैसे- घर का ईशान कोण गोल होना, कटा हुआ होना, दबा हुआ होना या जरूरत से ज्यादा ईशान कोण का बढ़ा हुआ होना या घर की अन्य दिशाओं की तुलना में ईशान कोण का ऊंचा होना इत्यादि। जबकि ईशान कोण 90 डिग्री में होना चाहिए और इस भाग का फर्श घर के बाकी फर्श के समान समतल या उससे नीचा होना चाहिए। शरीर के किस भाग में कैंसर है या हो सकता है, यह निर्भर करता है घर के दूसरे वास्तु दोषों पर जोकि घर की दक्षिण, पश्चिम दिशा या आग्नेय, वायव्य और नैऋत्य कोण में ही कहीं होता है।